एक झटके में तबाह को गया परिवार, एक को बचाने के चक्कर में तीन बहनें डूबीं

करनाल

एक हंसता खेलता परिवार उस समय तबाह हो गया, जब तीन बहनों की डूबने से मौत हो गई. एक का पैर फिसला तो दो बचाते समय डूब गई. घटना गांव टपराना की है.

यहां ड्रेन में डूबने से तीन लड़कियों की मौत हो गई. खेत में बकरियां चराने गई एक बच्ची का पांव फिसल गया, जिससे वह ड्रेन में गिर गई.

उसे बचाने के लिए दो अन्य लड़कियां ड्रेन में कूद गईं, लेकिन तेज बहाव के कारण वह भी डूब गईं. तीनों लड़कियां एक ही परिवार की थीं, जो रिश्ते में ममेरी बहनें थीं. दो लड़कियां नाबालिग थीं. ग्रामीणों ने किसी तरह तीनों को पानी से निकाला.

पुलिस की मदद से तीनों लड़कियों को मेडिकल कालेज ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने तीनों को मृत्यु घोषित कर दिया. सदर थाने के जांच अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि लड़कियों के शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है.

हिसार के गांव बांस निवासी रमेश अपने परिवार के साथ गांव टपराना में रहते हैं. रमेश ने पुलिस को बताया कि उन्होंने गांव में खेतों की देखभाल का ठेका ले रखा है. शनिवार सुबह वह मां का चेकअप कराने मेडिकल कालेज गए थे. इसी बीच उनकी छोटी लड़की रामबाई (12), बड़ी बेटी संतोष (18) और भांजी सकीना (6) बकरी चराने के लिए खेतों में चली गईं.

खेलते-खेलते सकीना ड्रेन के पास चली गई. पांव फिसलने की वजह से वह ड्रेन में गिर गई. उसे निकालने के लिए रामबाई ड्रेन में कूद गई, लेकिन वह भी डूबने लगी. उन दोनों को बचाने के लिए संतोष ड्रेन में कूद पड़ी. तेज बहाव में फंस कर वह भी डूब गई. ड्रेन के आसपास मौजूद लोगों को जानकारी हुई तो उन्होंने ग्रामीणों और पुलिस को सूचना दी.

Share With:
Rate This Article