यूपी विधानसभा में मिला विस्फोटक, सीएम योगी बोले- NIA से करवाई जाए जांच

लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश विधानसभा में विस्‍फोटक (PETN) मिलने के मामले की जांच एनआईए (NIA) करेगी. स्‍पीकर हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि सदन के अंदर विस्‍फोटक लाना देश को अपमानित करने जैसा है. उन्‍होंने मामले की जांच एनआईए से कराने की सिफारिश की. उन्‍होंने कहा कि विधानसभा के सभी गेटों पर क्विक रिस्‍पांस टीम (QRT) तैनात की जाएगी.

उन्‍होंने कहा कि विधानसभा के सभी एंट्री गेट पर बॉडी स्‍कैनर लगाए जाएंगे। साथ ही सुरक्षा के लिहाज से सभी पूर्व विधायकों के पास रदद किए जाएंगे. उन्‍होंने बताया कि विधायक के ड्राइवर के भी पास बनाए जाएंगे. पूरे विधानसभा भवन में एटीएस भी तैनात की जाएगी.

इससे पहले फॉरेंसिक जांच में विस्फोटक के पीईटीएन (PETN) विस्‍फोटक की पुष्टि होने के बाद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी. सुरक्षा से किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा.

योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यह सुरक्षा के साथ सीधी खिलवाड़ है. उन्‍होंने बताया कि विधानसभा में मिलने वाले विस्‍फोटक की मात्रा 150 ग्राम थी. इसकी 500 ग्राम मात्रा पूरे विधानसभा को उड़ाने के लिए काफी है. उन्‍होंने कहा कि यह यह आतंकी हमलों को अंजाम देने की साजिश है.

उन्‍होंने सुरक्षा को चाक-चौबंद बनाने के लिए कहा कि विधानसभा में कार्यरत सभी कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन होना चाहिए. साथ ही उन्‍होंने कहा कि सभी विधायक विधानसभा के अंदर मोबाइल लेकर नहीं आएं, यदि वे मोबाइल लाएं तो उसे साइलेंट मोड पर रखें.

 

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा में यह चूक बुधवार को सामने आई. बुधवार को डॉग स्‍कवॉयड की चेकिंग के दौरान सफेद पाउडर मिला था. इसके बाद इसे जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया. जांच रिपोर्ट में इसके विस्‍फोटक पीईटीएन (PETN) होने की पुष्टि हुई है. इस विस्‍फोटक को आमतौर पर बंकर को नष्‍ट करने में इसका प्रयोग किया जाता है. जानकारों के अनुसार मेटल डिटेक्‍टर और खोजी कुत्‍ते भी इस विस्‍फोटक की पहचान नहीं कर पाते.

Share With:
Rate This Article