अमरनाथ हमला: सुरक्षा एजेंसियों को मिली बड़ी कामयाबी, दो और आतंकियों की पहचान हुई

अनंतनाग: सोमवार को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले में सुरक्षा एजेंसियों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. खबर है कि पाकिस्तानी आतंकी इस्माइल के अलावा दो और आतंकियों की पहचान हो गई है.

अमरनाथ आतंकी हमले में जिन दो आतंकियों की पहचान हुई है उनका नाम आज़ाद मालिक और मजमिल मंज़ूर बताया जा रहा है. कहा जा रहा है कि हमले से पहले इन आतंकियों ने दो बार हमले की जगह की रैकी भी की थी.

कहा जा रहा है कि सबसे पहली आठ जुलाई को रैकी की गई थी, जिसमें ना सिर्फ़ अबू इस्माइल बल्कि उसके साथ आज़ाद मालिक और मजमिल भी शामिल थे. इन तीनों आतंकियो को अनंतनाग  में क़रीब शाम पांच बजे देखा गया था. उसके बाद नौ जुलाई को अनंतनाग के खिर्बल इलाक़े में शाम 7 बजे ये हमले की जगह देखे गए थे.

कहा यह भी जा रहा है कि दस जुलाई को अटैक करने के बाद इन तीनों को अनंतनाग के हसनपुरा में भी देखा गया था. इस पूरे हमले में दो बाईक का इस्तेमाल किया गया था. सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि इस आतंकी हमले में चार आतंकी शामिल थे. चौथे आतंकी के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है.

खुफिया सूत्रों के मुताबिक, हमले की पूरी साजिश पाकिस्तान के रहने वाले लश्कर के कमांडर इस्माइल ने रची थी. इस्माइल का पूरा नाम मोहम्मद अबू इस्माइल है. ये दक्षिण कश्मीर और पाक अधिकृत कश्मीर में लश्कर का कमांडर है. स्थानीय आतंकी संगठनों के साथ इसके अच्छे रिश्ते हैं और स्थानीय आतंकी इसे मदद भी करते हैं.

बता दें कि सोमवार देर रात आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में अमरनाथ यात्रा की एक बस पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी. जिसमें सात तीर्थयात्रियों की मौत हो गई. जबकि 19 घायल हो गए थे. सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक हमले को तीन-चार आतंकियों ने अंजाम दिया, जो लश्कर-ए-तैयबा के हो सकते हैं. इस बस में 56 यात्री सवार थे. ये सभी बालताल के रास्ते अमरनाथ गुफा के दर्शन कर आठ जुलाई को श्रीनगर लौटे थे. उसके बाद श्रीनगर और सोनमर्ग घूमकर कल रात वापस जम्मू की तरफ लौट रहे थे.

Share With:
Rate This Article