तेजस्‍वी की सफाई- ‘जिस वक्‍त घोटाला हुआ, तब तो मेरी मूंछ भी नहीं आई थी’

पटना

बिहार में सीबीआई छापों के बाद जदयू द्वारा तेजस्वी यादव को 4 दिन का अल्टीमेटम दिए जाने के बाद बुधवार को कैबिनेट की बैठक हुई. बैठक में शामिल होने के बाद तेजस्वी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिस घोटाले के आरोप लग रहे हैं उस वक्त मैं महज 13 साल का था. जिस उम्र में मेरी मूंछ नहीं आई थी तब गलत काम कैसे कर सकता हूं. मैंने भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम किया है.

तेजस्वी ने भाजपा को पूरे मामले के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि यह हमारे खिलाफ साजिश की जा रही है. इससे पहले तेजस्वी बैठक में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे तब उन्होंने मीडिया से बात करने से इन्करा कर दिया था.

बता दें कि जदयू ने मंगलवार को बैठक के बाद कहा था कि जिन लोगों के खिलाफ छापे पड़े हैं वो इस मामले में तथ्यों के साथ जनता के सामने सफाई दें. जदयू ने 4 दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि 4 दिन बाद फिर से पार्टी की बैठक होगी, जिसमें आगे का फैसला होगा. इसके बाद राजद ने एक बार फिर से दो टूक कहा कि तेजस्वी अपने पद से इस्तीफ नहीं देंगे.

तेजस्वी यादव के इस्तीफे पर राजद ने कहा है कि तेजस्वी पर अभी सीबीआइ ने प्राथमिकी ही दर्ज कराई है, उनका गुनाह साबित नहीं हुआ है और वहीं जिस वक्त का यह घोटाले का मामला है, उस वक्त तेजस्वी नाबालिग थे और इस मामले पर इस्तीफा देने का सवाल नहीं है. वहीं, नीतीश पर पार्टी नेताओं का पूरा दबाव है कि वो इस मामले पर कड़ा रूख रखें और नहीं हो तो महागठबंधन से किनारा कर लें.

इस मुद्दे को लेकर राजद और जदयू दोनों के बीच तलवार खिंची नजर आती है. हालांकि, ये बात भी सामने आई है कि राजद और जदयू दोनों के बीच महागठबंधन को बचाने की भी कवायद हुई, लेकिन दोनों के बीच मचे तूफान के बीच महागठबंधन पर खतरा अभी पूरी तरह बरकरार है.

Share With:
Rate This Article