महिला वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज बनीं मिताली राज

ब्रिस्टल (इंग्लैंड)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्‍तान मिताली राज ने बुधवार को इतिहास रच दिया. महिला वर्ल्‍डकप के अंतर्गत आज ब्रिस्‍टल में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबले में 34 रन बनाते ही मिताली वनडे में सर्वाधिक रन बनाने वाली महिला बल्‍लेबाज बन गई हैं.

इस मैच के पहले मिताली को इंग्‍लैंड की क्रिकेटर शारलेट एडवर्ड्स के 5992 रन के रिकॉर्ड की बराबरी करने के लिए महज 33 रन की जरूरत थी. एडवर्ड्स ने 191 मैचों में यह रन बनाए थे. मिताली ने आज की पारी के दौरान न केवल इंग्‍लैंड की बल्‍लेबाज एडवर्ड्स का रिकॉर्ड को पछाड़ा बल्कि महिला वनडे क्रिकेट में 6000 रन के आंकड़े तक पहुंचने वाली वे पहली महिला बल्लेबाज बन गई हैं.

इससे पहले मिताली ने टूर्नामेंट के दौरान लगातार सात वनडे में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था. महिला क्रिकेट में सबसे अधिक वनडे अर्धशतक का रिकॉर्ड भारत की 34 वर्षीय कप्‍तान के नाम पर ही है. मिताली ने 16 वर्ष की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्‍यू किया था. बल्‍लेबाजी में कौशल के कारण कई बार उन्‍हें ‘महिला क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर’ कहकर भी पुकारा जाता है.

मिताली राज ने अब कुल 183 वन-डे इंटरनेशनल मैचों की 164 पारियों में 6,010 रन बनाए हैं, जबकि अब तक शीर्ष पर मौजूद रहीं इंग्लैंड की शारलेट एडवर्ड्स ने 191 मैचों की 180 पारियों में 5,992 रन बनाए हैं. मिताली कुल 48 बार नॉट आउट रही हैं, और उनका औसत 51.81 रहा है, जबकि शारलेट ने 23 बार नॉट आउट रहकर 38.16 की औसत से ये रन बनाए हैं.

हालांकि, शारलेट शतकों के मामले में मिताली से आगे हैं, क्योंकि उन्होंने कुल नौ बार शतकीय पारियां खेली हैं, जबकि मिताली केवल पांच बार 100 का आंकड़ा छू पाई हैं. अर्द्धशतकों के मामले में मिताली आगे हैं, और उन्होंने शारलेट के 46 अर्द्धशतकों की तुलना में 49 बार पचासा ठोका है. नाबाद 173 रन की सर्वश्रेष्ठ पारी खेल चुकीं शारलेट अपने वन-डे करियर के दौरान कुल 16 बार शून्य पर पैवेलियन लौटी हैं, जबकि मिताली ने नाबाद 114 रन की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली है, और वह कुल पांच बार बिना खाता खोले आउट हुई हैं.

Share With:
Rate This Article