उद्धव का केंद्र पर निशाना, ‘आतंकवादियों से लड़ने के लिए गोरक्षकों को भेजे’

अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले को लेकर शिवसेना ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने खुद अपने भाषण में इस मुद्दे को लेकर कई बार सरकार पर तीखे व्यंग्य किए. उन्होंने ये भी कहा कि क्या आतंकियों को इसलिए छोड़ दिया, क्योंकि उनके बैग में गोमांस नहीं था?

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को मुंबई में दिए अपने भाषण में अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले को लेकर कई तीखी टिप्पणियां कीं. उन्होंने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि अगर हिंदुत्ववादी सरकार भी अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले को रोक नहीं पा रही, तो क्या अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और दूसरे देशों के नेता आकर हमले रोकेंगे?

उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘’कांग्रेस के राज में अमरनाथ यात्रा सुरक्षित होती रही, लेकिन अब हिंदुत्ववादी सरकार है और अमरनाथ यात्रा पर हमले हो रहे हैं. अब वहां ट्रम्प और दूसरे देशों के राष्ट्राध्यक्ष बंदूक लेकर खड़े रहेंगे क्या? सभी देशों के राष्ट्राध्यक्ष अमरनाथ यात्रा के मार्ग में खड़े होकर कहेंगे कि हम सब एक हैं.ऐसा होगा क्या?’’

उद्धव ठाकरे ने आतंकी हमले के बहाने गोरक्षकों पर भी निशाना साधा. उन्होंने व्यंग्य करते हुए कहा कि आतंकियों के बैग में अगर गोमांस होता तो उनमें से एक भी नहीं बचता.

ठाकरे ने कहा, ‘’क्या हमें समझना चाहिये कि अगर उनके थैले में हथियारों की जगह गाय का मांस होता तो उन आतंकवादियों में से कोई भी जीवित नहीं होता.’’ उन्होंने कहा, ”गोरक्षकों’ का मुद्दा आज उठ रहा है. क्यों आप इन गोरक्षकों को आतंकवादियों से लड़ने के लिये नहीं भेजते हो.’

उद्धव ठाकरे के इन बयानों में एक बार फिर से शिवसेना की वही पुरानी रणनीति झलक रही है, जिसमें वो एक तरफ तो बीजेपी के साथ सत्ता में साझेदारी करती है और दूसरी तरफ मुश्किल मौकों पर सरकार को कटघरे में खड़ा करने में भी नहीं चूकती.

कश्मीर के अनंतनाग जिले में कल रात एक बस पर हुए आतंकवादी हमले में छह महिलाओं समेत सात अमरनाथ तीर्थयात्री मारे गए थे और 19 अन्य घायल हुए थे. मृतकों में से पांच गुजरात के रहने वाले थे जबकि दो महाराष्ट्र के थे.

Share With:
Rate This Article