संजय गांधी मेरे जैविक पिता हैं, चाहें तो डीएनए टेस्ट करा लें: प्रिया सिंह पॉल

दिल्ली

संजय गांधी की बेटी होने का दावा करने वाली एक महिला (प्रिया सिंह पॉल) ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आगामी फिल्म ‘इंदु सरकार’ कांग्रेस के दिवंगत नेता और उनकी मां तथा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को गलत रूप में पेश करती है.

प्रिया सिंह पॉल ने यहां की तीस हजारी अदालत में दायर की एक याचिका में दावा किया कि उसे गोद लेने के कागजात “जाली” हैं और एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फिल्म में “गलत रूप में पेश की गयी चीजों” के कारण वह “अपनी चुप्पी तोड़ने पर” मजबूर हुई.

पिछले महीने 48वां जन्मदिन मनाने वाली प्रिया ने कहा कि उसने फिल्म को मंजूरी देने के खिलाफ केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) का रूख किया है. इंदिरा गांधी के छोटे बेटे संजय गांधी की 1980 में एक विमान हादसे में मौत हो गयी थी.

उसने कहा, “फिल्मकारों ने माना है कि फिल्म 30 प्रतिशत तथ्यों पर आधारित है और 70 प्रतिशत काल्पनिक है. लेकिन ये तथाकिथत तथ्य भी काल्पनिक हैं. ऐसा चालाकी से किया गया है ताकि किसी तर्कशील दर्शक को स्पष्ट तरीके से घटनाओं को जोड़ने के लिए प्रेरित किया जा सके.” प्रिया ने कहा कि वह ‘मीडिया का ध्यान खींचने के लिए” ऐसा नहीं कर रही और ऐसा करने का कारण यह है कि उनके ”पिता” के बारे में गलत धारणा बनायी जा रही है.

उसने दावा किया कि उसे बचपन में किसी ने गोद लिया था और बड़े होने पर उसे बताया गया कि संजय गांधी उसके जैविक पिता हैं.

संजय गांधी का “मित्र” होने का दावा करने वाले गोस्वामी सुशीलजी महाराज नाम के एक व्यक्ति ने अदालत में शपथपत्र दायर कर कहा कि उसे इस बात की “पूरी जानकारी” है कि संजय की एक “लड़की” थी जो उनकी शादी से पहले पैदा हुई थी. मधुर भंडारकर द्वारा निर्देशित ‘इंदु सरकार’ 1975 में इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल की पृष्ठभूमि पर आधारित है और 28 जुलाई को रिलीज होगी.

Share With:
Rate This Article