सुशील मोदी बोले- लालू प्रसाद यादव ने जो किया है, वही वह भोग रहे हैं

सीबीआई का दुरुपयोग करने के कांग्रेस, राजद के आरोपों को खारिज करते हुए बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने दावा किया कि इस विषय को 2008 में शरद यादव, ललन सिंह जैसे जदयू नेता तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के समक्ष उठा चुके हैं और लालू प्रसाद को राजनीतिक बयानबाजी करने की बजाए भ्रष्टाचार के मामले में कानून का सामना करना चाहिए .

सुशील मोदी ने कहा कि राजग सरकार के मंत्रियों- नेताओं से पैरवी नाकाम होने के बाद लालू प्रसाद को एहसास हो गया है कि बेनामी संपत्ति के मामले में उनका जेल जाना तय है. इसकी खींझ उतारने के लिये रैली के बहाने पटना को भीड़ के हवाले करने की साजिश रची जा रही है. छापे की जो कार्रवाई हो रही है, उसमें लालू प्रसाद को आगे आकर बिन्दुवार जवाब देना चाहिए ना कि और बयानबाजी.

सुशील मोदी ने दावा किया कि जिस मामले में सीबीआई की कार्रवाई हुई है, उसे पहली बार नौ वर्ष पूर्व 12 अगस्त 2008 को जदयू के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष ललन सिंह और राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने उजागर किया था. जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव इस विषय को उठा चुके हैं. उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को जदयू नेता शरद यादव और ललन सिंह ने ज्ञापन सौंप लालू प्रसाद पर कार्रवाई की मांग की थी.

 

Share With:
Rate This Article