झूठा है चीन: भारत ने कहा- मोदी-जिनपिंग की मुलाकात पहले से ही तय नहीं

दिल्ली

जर्मनी के हैम्बर्ग में जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग की द्विपक्षीय वार्ता के संबंध में भारतीय अधिकारी ने कहा कि दोनों देशों के बीच ऐसी कोई भी मुलाकात पहले से तय ही नहीं है.

इससे पहले चीन ने गुरुवार को कहा कि जर्मनी के हैम्बर्ग में जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग की द्विपक्षीय वार्ता के ‘माहौल सही नहीं है.’ गौरतलब है कि दोनों देशों की सेना के बीच सिक्किम सेक्टर में गतिरोध चल रहा है.

हैम्बर्ग में शुक्रवार से शुरू हो रहे जी20 शिखर सम्मेलन से पहले चीनी विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, राष्ट्रपति शी और प्रधानमंत्री मोदी के बीच द्विपक्षीय वार्ता के लिए माहौल सही नहीं है.

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय अधिकारी ने कहा कि लेकिन हमारी किसी भी मीटिंग के लिए बात नहीं हुई है. फिर इस बात के क्या मायने हैं कि
वातावरण सही है या गलत है. ये अधिकारी मोदी के साथ इजराइल दौरे पर हैं.

भारतीय पक्ष ने कहा कि मोदी और शी जिनपिंग की मीटिंग का कोई प्लान नहीं है. उन्होंने साथ ही कहा कि दोनों देश अपनी सेनाओं को डोकलम गतिरोध
को सुलझाने के लिए स्वीकृति दे सकते हैं.

पीएलए की निर्माण शाखा द्वारा सड़क बनाने का प्रयास किये जाने के बाद चीन और भारत के बीच पिछले 19 दिनों से भूटान-चीन-भारत सीमा पर डोकलाम क्षेत्र में गतिरोध चल रहा है. इस क्षेत्र का भारतीय नाम डोक ला है जबिक भूटान इसे डोकलाम और चीन इसको डोंगलांग कहता है.

खबरें थीं कि गतिरोध को खत्म करने के लिए दोनों देशों के शीर्ष नेतृत्व के बीच हैम्बर्ग में बैठक हो सकती है.

Share With:
Rate This Article