कुमार विश्वास ने कहा- प्रियंका का जून में, तो राहुल का जुलाई में खून खौलता है

दिल्ली

आम आदमी पार्टी (आप) नेता कुमार विश्वास ने प्रियंका गांधी पर निशाना साधा है. विश्वास ने कहा कि मौसमी नेताओं का खून अपने लिए नफा-नुकसान का वक्त देखकर खौलता है.

बता दें कि भीड़ द्वारा लोगों को मारे जाने की घटना पर प्रियंका गांधी ने कहा था कि लिचिंग की घटनाओं को देखकर खून खौलता है. पिछले कुछ महीनों में भीड़ द्वारा लोगों की पीट-पीटकर हत्या की बढ़ती वारदातों पर चिंता जताते हुए आप नेता ने कहा कि इस लोकतांत्रिक देश में आजादी के इतने सालों बाद भी समूह, जाति, धर्म खान-पान की पसंद-नापसंद के आधार पर लोगों की हत्या होना चिंता की बात है.

कुमार विश्वास ने पूछा कि प्रियंका गांधी का खून 1984 के सिख दंगों पर क्यों नहीं खौला? उन्होंने कहा कि उनका और उनके परिवार का खून तब से खौलते रहना चाहिए था. कुमार ने कहा कि जब तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश की प्राकृतिक संसाधनों पर पहला हक अल्पसंख्यकों का है, तब उनका खून क्यों नहीं खौला? क्योंकि वह एक अजीब बयान था. उन्होंने कहा कि देश के संसाधन पर सभी देशवासियों का बराबर का हक है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी कुमार विश्वास ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि दोनों भाई-बहन ने समय अंतराल बांट रखा है. एक का खून जून में खौलता है तो दूसरे का खून जुलाई में खौलेगा क्योंकि एक अभी नाना-नानी के घर में हैं और जब वो आएंगे तब जुलाई चल रहा होगा. विश्वास ने कहा कि कांग्रेस जो सियासत राहुल और प्रियंका के जरिए कर रही है, उससे उनके स्थाई विपक्ष में आने की संभावना भी खत्म हो चली है.

कुमार विश्वास ने पीएम नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में घूम-घूमकर महात्मा गांधी की प्रतिमाओं पर फूल चढ़ाने वाले प्रधानमंत्री जब खुद के देश में लिचिंग जैसी घटनाओं को नहीं रोक पा रहे हैं तो इससे हास्यास्पद और दुखदायी बात क्या हो सकती है. बता दें कि हाल के दिनों में बीफ के शक में कई लोगों की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या की जा चुकी है या गंभीर रुप से जख्मी किया जा चुका है.

Share With:
Rate This Article