सीएम योगी आदित्यनाथ ने पेश किया यूपी सरकार का 100 दिन का रिपोर्ट कार्ड

लखनऊ

उत्‍तर प्रदेश सरकार के 100 दिन पूरे होने पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मीडिया के सामने मंगलवार को रिपोर्ट कार्ड पेश किया. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने छोटे से कार्यकाल में काफी काम किया है. 19 मार्च 2017 को सरकार ने अपना काम काज संभाला था. किसी के लिए भी 100 दिन का समय काफी कम है लेकिन हमने इस चुनौती को स्‍वीकार किया है.

सरकार के 100 दिन के कार्यकाल पर संतोष जताते हुए योगी ने कहा कि राज्य सरकार केंद्र की मोदी सरकार के रास्ते पर चल रही है. हमारी सरकार सबका साथ-सबका विकास का नियम अपना रही है. पिछली सरकारों ने प्रदेश की जनता का नुकसान किया. यहीं कारण है कि उत्‍तर प्रदेश अन्‍य राज्‍यों से काफी पिछड़ चुका है.

योगी ने सरकार की 100 दिन की उप‍लब्धियों में किसानों की कर्जमाफी का जिक्र प्रमुखता से करते हुए बताया कि सरकार ने 86 लाख किसानों का कर्ज माफ किया है. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने 100 दिन में बिना किसी भेदभाव के सभी वर्गों के लिए काम किया है. इस दौरान सरकान ने 150 एडवांस एंबुलेंस सेवा शुरू की, जिससे गरीबों को सीधे तौर पर फायदा मिलेगा.

राज्य सरकार ने 1 लाख 21 हजार किमी. सड़कों को गढ्ढा मुक्त करने का फैसला किया है, सभी जिला मुख्यालयों को 24 घंटे बिजली, ग्रामीण क्षेत्रों को 18 घंटे बिजली 14 अप्रैल से शुरू की गई है. 24 घंटे बिजली देने पर लगातार काम चल रहा है. मुख्‍यमंत्री ने एक बार फिर से राज्‍य के धार्मिक स्‍थलों को 24 घंटे बिजली देने की बात दोहरायी.

सीएम ने कहा, पूर्वांचल एक्‍सप्रेस वे का निर्माण किया जाएगा, जिससे अयोध्‍या और काशी को सीधे तौर पर जोड़ा जाएगा. सरकार ने महिलाओं और बच्‍चों की सुरक्षा के लिए पर्याप्‍त कदम उठाए हैं. इसके तहत एंटी रोमियो दस्ते का गठन किया गया. इसके साथ ही कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ भी काम किया जा रहा है. महिला हेल्पलाइन 181 का संचालन किया जा रहा है.

योगी ने कहा कि हमारी सरकार भोजन, सड़क, आवास, पेयजल के साथ ही कानून व्यवस्था और शिक्षा के साथ ही रोजगार के लिए भी काम कर रही है. हमारी सरकार 2017 को गरीब कल्याण वर्ष के रुप में मना रही है. सकरार की उपलब्धियां गिनाते हुए सीएम ने कहा कि एंटी माफिया पोर्टल लॉन्‍च किया गया है. इसके तहत कई हेक्टेयर भूमि को कब्‍जा मुक्त किया गया है.

उन्होंने कहा, स्वच्छ भारत अभियान के तहत राज्य सरकार काम कर रही है, अक्टूबर 2018 तक राज्य को खुले में शौच मुक्त करने का लक्ष्य किया गया है योगी ने कहा कि युवाओं को कौशल विकास के माध्यम से नौकरी देने पर जोर दिया जा रहा है. इस दौरान उनके साथ डिप्टी सीएम केशव मौर्य और दिनेश शर्मा के साथ मंत्रिमंडल के कई मंत्री भी मौजूद रहे.

Share With:
Rate This Article