GST के विरोध में हिमाचल में 30 जून को बंद

हिमाचल प्रदेश व्यापार मंडल ने जीएसटी में प्रावधानों पर ऐतराज जताते हुए भारतीय उद्योग-व्यापार मंडल के राष्ट्रव्यापी भारत बंद के समर्थन का एलान किया है। व्यापार मंडल ने इसी क्रम में 30 जून को प्रदेश के सभी व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद रखने का फैसला किया है।

व्यापारियों का कहना है कि सरकार इसे आनन-फानन में लागू कर रही है। जीएसटी में कई प्रावधानों पर देशभर के व्यापारी आक्रोशित हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी में कोताही पर व्यापारी को सजा का प्रावधान पूरी तरह गलत है। इसे तुरंत प्रभाव से निरस्त किया जाना चाहिए। उन्होंने जीएसटी के तहत व्यापारियों को छूट के लिए टर्न ओवर की सीमा में हिमाचल और पंजाब राज्यों में भेदभाव पर भी आपत्ति जताई।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 10 लाख रुपये से कम टर्न ओवर वाले व्यापारियों को जीएसटी की प्रक्रिया के तहत पंजीकरण से छूट मिलेगी जबकि पंजाब में इस सीमा को 20 लाख रुपये रखा गया है। उन्होंने ई-वे बिल को समाप्त करने और एक माह में तीन रिटर्नों के स्थान पर तीन माह में एक रिटर्न भरने का प्रावधान करने की मांग की।

व्यापारियों ने मांग की है कि, कपड़ा, ब्रांडेड अनाज, तिलहन, कृषि उत्पादों, जीवन रक्षक वस्तुओं को जीएसटी से मुक्त किया जाए। जीएसटी के तहत कोई भी वस्तु फ्री नहीं रहेगी, हर वस्तु पर टैक्स देना पड़ेेगा। ग्राहकों को एक्सचेंज व ट्रांसफर रिप्लेसमेंट सुविधाएं खत्म हो जाएंगी। जीएसटी के तहत प्रत्येक बिल को ऑनलाइन अपडेट करना होगा और रिकॉर्ड मेंटेन करना होगा। हर खरीद का दैनिक रिकॉर्ड रखना होगा।

Share With:
Rate This Article