US में बोले पीएम मोदी, सर्जिकल स्ट्राइक पर दुनिया में किसी ने सवाल नहीं उठाया

मोदी ने कहा कि भारत विश्व को आतंकवाद के उस चेहरे के बारे में समझाने में सफल रहा है, जो देश में शांति और सामान्य जीवन को तबाह कर रहा है. उन्होंने कहा , ‘जब हम आज से 20 साल पहले के आतंकवाद की बात करते थे, तो दुनिया में कई लोगों ने कहा था कि यह कानून और व्यवस्था से जुड़ी समस्या है और तब वे इसे समझते नहीं थे. अब आतंकियों ने उन्हें आतंकवाद का अर्थ समझा दिया है, इसलिए हमें अब उन्हें समझाने की जरूरत ही नहीं है.’

मोदी ने कहा कि भारत विश्व को आतंकवाद के उस चेहरे के बारे में समझाने में सफल रहा है, जो देश में शांति और सामान्य जीवन को तबाह कर रहा है. उन्होंने कहा , ‘जब हम आज से 20 साल पहले के आतंकवाद की बात करते थे, तो दुनिया में कई लोगों ने कहा था कि यह कानून और व्यवस्था से जुड़ी समस्या है और तब वे इसे समझते नहीं थे. अब आतंकियों ने उन्हें आतंकवाद का अर्थ समझा दिया है, इसलिए हमें अब उन्हें समझाने की जरूरत ही नहीं है.’

मोदी ने कहा कि सजर्किल स्ट्राइक ने दिखा दिया कि आम तौर पर संयम के सिद्धांत का पालन करने वाला भारत जरूरत पड़ने पर अपनी संप्रभुता की रक्षा भी कर सकता है और अपनी सुरक्षा सुनिश्चित भी कर सकता है. उन्होंने प्रवासी भारतीयों से कहा, ‘भारत ने जब सजर्किल हमले किए तो विश्व को हमारी ताकत का अहसास हो गया. दुनिया ने देखा कि वैसे तो हम संयम बरतते हैं, लेकिन आतंकवाद से निपटने और खुद की सुरक्षा करने के दौरान जरूरत पड़ने पर भारत अपनी शक्ति और पराक्रम भी दिखा सकता है.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘सर्जिकल स्ट्राइक एक ऐसी घटना थी, यदि दुनिया चाहती, तो भारत के बाल नोंच लेती. हमें कटघरे में खड़ी करती, हमसे जवाब मांगा जाता, लेकिन भारत के इतने बड़े कदम पर दुनिया में कहीं भी एक सवाल तक नहीं उठा. मोदी ने पाकिस्तान पर एक और तंज कसते हुए कहा, ‘हां, उन लोगों की बात और है, जो सजर्किल हमलों का शिकार बने।’ उनकी यह बात सुनकर वहां बैठे श्रोता ठहाके लगाने लगे.

सरकार पर एक भी दाग नहीं 
प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार के कामकाज का जिक्र करते हुए कहा कि 3 साल के कार्यकाल में सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी दाग नहीं लगा है. उन्होंने कहा कि पहले के मुकाबले भारत तेज गति से आगे बढ़ रहा है.

‘सब्सिडी से गरीबों का भला’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘एक बार कहने पर सवा करोड़ सक्षम लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी। इसके बाद सब्सिडी के पैसों से गरीबों को रसोई गैस उपलब्ध कराई गई.’ भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘हमने बीड़ा उठाया है कि पांच करोड़ गरीब परिवारों में गैस चूल्हा उपलब्ध कराया जाए. मुझे गर्व है कि अभी तक एक करोड़ परिवारों को गैस सिलिंडर उपलब्ध करवा दिए गए हैं.’

Share With:
Rate This Article