चीनी सेना ने सीमा लांघकर दो बंकर तबाह किए, भारतीय जवानों से भी की धक्का-मुक्की

दिल्ली

चीनी सैनिकों ने एक बार फिर सीमा लांघी है. सिक्किम सेक्टर में घुसे इन सैनिकों ने भारतीय सैनिकों के साथ धक्कामुक्की की और 2 बंकर भी नष्ट कर दिए. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, डोका ला एरिया में पिछले 10 दिनों से दोनों सेनाएं आमने-सामने हैं. चीनी सैनिकों ने कैलास मानसरोवर की ओर बढ़ रहे भारतीय तीर्थयात्रियों के एक जत्थे को भी रोक दिया है.

चीनी सैनिकों को भारतीय क्षेत्र में आगे बढ़ने से रोकने के लिए भारतीय सैनिकों को कड़ा संघर्ष करना पड़ा. पीएलए सैनिकों को रोकने के लिए उन्होंने लाइन ऑफ ऐक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर मानव श्रृंखला बनाई. कुछ सैनिकों ने घटना की विडियोग्रफी भी की है.

चीनी सैनिकों ने डोका ला के लालटेन इलाके में दो बंकर नष्ट कर दिए गए हैं. 20 जून को दोनों पक्षों के सीनियर अधिकारियों के बीच फ्लैग मीटिंग हुई, लेकिन तनाव बरकरार है. यह पहली बार नहीं है कि चीनी सैनिकों ने यहां सीमा का उल्लंघन किया है. भूटान और तिब्बत से लगते इस इलाके में चीनी सैनिकों ने नवंबर 2008 में भी घुसपैठ की थी और भारतीय सेना के बंकर्स तोड़ दिए थे.

गौरतलब है कि भारत का चीन के साथ सीमा विवाद है और अक्सर चीनी सैनिक भारतीय सीमा में घुसपैठ करते हैं. भारत और चीन के बीच चार हजार किलोमीटर से अधिक लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा तीन सेक्टरों पूर्वी, मध्य और पश्चिमी सेक्टर में बंटी है.

पूर्वी सेक्टर में अरुणाचल प्रदेश का इलाका पड़ता है जिसके 90 हजार वर्ग किलोमीटर इलाके पर चीन अपना कब्जा जताता है. मध्य सेक्टर में उत्तराखंड, हिमाचल और सिक्किम हैं. इस इलाके में भी उत्तराखंड के बाराहुती क्षेत्र पर चीन दावा जताता रहा है. पश्चिमी सेक्टर में लद्दाख और अक्साई चिन का इलाका है. चीन ने 1962 की लड़ाई में अक्साई चिन के 38 हजार वर्ग मील इलाके पर कब्जा कर लिया था.

Share With:
Rate This Article