जम्मू कश्मीर के बच्चों को पढ़ाई से दूर करना चाहते हैं आतंकी: डीजीपी एसपी वैद

श्रीनगर

शहर स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल में छिपे आतंकियों को रविवार को सुरक्षाबलों ने मार गिराया. इसके बाद आतंकियों के साजिश का खुलासा भी हुआ है. राज्य के डीजीपी एसपी वैद ने बताया कि दुश्मनों के निशाने पर घाटी के स्कूलों की इमारतें हैं. वे स्कूली इमारतों को तबाह कर देना चाहते हैं. ऐसा करने का मकसद बच्चों को पढ़ाई से दूर करना है.

एनकाउंटर के बारे में जानकारी देते हुए वैद ने कहा कि सुरक्षाबलों का मकसद कम से कम जानमाल का नुकसान सुनिश्चित करना था. उन्होंने कहा, ‘स्टाफ या जो कोई दूसरा शख्स इमारत के अंदर था, उसे शनिवार को बाहर निकाल दिया गया था.’

आगे डीजीपी ने बताया, ‘हम यह सुनिश्चित करना चाहते थे इमारत (स्कूल की) सुरक्षित रहे, क्योंकि दुश्मन के स्कूली इमारतों को तबाह करने के कुटिल मंसूबे हैं. वे चाहते हैं कि बच्चों के पास पढ़ने के लिए कुछ न रह जाए और आखिरकार उन्हें पढ़ाई छोड़नी पड़े. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि ऐसा न हो.’

बता दें कि श्रीनगर-जम्मू नेशनल हाइवे पर शनिवार को आतंकियों ने सीआरपीएफ के रोड ओपनिंग पार्टी पर हमला कर दिया था. इसमें शहीद हुए एक अफसर की अंतिम यात्रा में शामिल होने आए डीजीपी ने मीडिया से बातचीत की.

दरअसल, इसी हमले को अंजाम देने के बाद आतंकी स्कूल परिसर में दाखिल हुए थे. डीजीपी ने बताया कि आतंकियों के खात्मे का ऑपरेशन इसलिए लंबा चला क्योंकि इमारत काफी बड़ी थी. उन्होंने बताया, ‘कुल 36 कमरे थे और इमारत काफी बड़ी थी. इसलिए हर फ्लोर पर हर कमरे की तलाशी ली गई.’ बता दें कि रविवार को हुई इस मुठभेड़ में सेना के दो जवान घायल हो गए थे.

Share With:
Rate This Article