हिमाचल में चुनाव नहीं लड़ेगी आम आदमी पार्टी

हिमाचल प्रदेश की राजनीति में तीसरे राजनीतिक विकल्प का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी इस साल के अंत तक होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले ही सियासी मानचित्र से गायब हो गई है। पार्टी आलाकमान ने हिमाचल में चुनाव नही लड़ने का फैसला लिया है। जिससे प्रदेश के आप कार्यकर्ताओं के मंसूबों पर पानी फिर गया है।

करीब दो साल पहले हिमाचल में पूरे जोर-शोर से हिमाचल में आम आदमी पार्टी राजनीति में उतरी। पार्टी नेता व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के भी यहां दौरे हुए। संगठन को विस्तार मिला तो प्रदेश के संयोजक पूर्व सांसद राजन सुशांत बनाए गए। लेकिन सुशांत लंबे समय तक केजरीवाल के साथ तालमेल नहीं बिठा पाए तो पार्टी ने उन्हें हटा कर उनकी जगह संजय सिंह को पार्टी की कमान सौंप दी। इस बीच पंजाब के नतीजों से पार्टी में निराशा का महौल पैदा हुआ। जिसका असर हिमाचल में भी देखा गया और पार्टी ने हिमाचल में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला ले लिया। आप के इस कदम को हैरानी भरी नजर से देखा जा रहा है।

Share With:
Rate This Article