पंजाब में भी किसानों का कर्ज हुआ माफ, सीएम अमरिंदर ने किए कई बड़े एलान

चंडीगढ़

पंजाब विधानसभा में सोमवार को सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा की. इस दौरान एसवाईएल का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब के पास पानी नहीं है और हम किसी भी हालत में किसी और राज्य को पानी नहीं देंगे.

सीएम ने कहा, हमने पंजाब को पारदर्शी सरकार देने का वादा किया था और हम इसके लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेश से वीवीआईपी कल्चर खत्म किया और इसके अलावा बेअदबी की घटनाओं के लिए न्यायिक जांच बैठाई और 12 आरोपी गिरफ्तार किए गए.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, राणा गुरजीत सिंह पर रेत खनन के जो आरोप लगे थे उसके लिए भी हमने जांच बैठाई. इसके अलावा ई-ऑक्शन पॉलिसी बनाई, जिसे पिछली सरकार ने 10 सालों में भी नहीं बनाई.

इसके बाद सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब में किसानों की कर्ज माफी को लेकर बड़ा एलान किया. उन्होंने 5 एकड़ तक जमीन वाले किसानों का फसली कर्ज माफ करने का एलान किया और अन्य किसानों का 2 लाख लाख रुपए तक कर्ज माफी का भी एलान किया, जिससे 10 लाख 25 हजार किसानों को लाभ होने का अनुमान है.

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने आत्महत्या करने वाले किसानों के परिवारों को 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का एलान किया. साथ ही उनके कर्ज को सरकार द्वारा वहन करने की बात कही.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब में छोटे किसानों को मुफ्त बिजली देना जारी रहेगा लेकिन उन्होंने राज्य के बड़े किसानों से बिजली की सब्सिडी छोड़ने का आग्रह किया.

उन्होंने पंजाब में एमएस रंधावा हॉर्टीकल्चर यूनिवर्सिटी बनाए जाने का एलान किया. इसके अलावा सीएम ने ट्रक यूनियन को समाप्त करने का एलान किया.

Share With:
Rate This Article