राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट को दी गई ज़मीन वापस लेगी हरियाणा सरकार?

हरियाणा की भारतीय जनता पार्टी सरकार राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट (आरजीसीटी) को गुरुग्राम (गुड़गांव) में दी गई करीब 4.8 एकड़ ज़मीन वापस लेने की तैयारी कर रही है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक डिपार्टमेंट ऑफ टाउन एंड कंट्री प्लानिंग (डीटीसीपी) ने इस ज़मीन पर ट्रस्ट के कब्ज़े संबंधी प्रमाण पत्र को रद्द कर दिया है.

ख़बर के मुताबिक गुरुग्राम के उल्लवास गांव में आठ साल पहले (2009 में) आरजीसीटी के सदस्यों- कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को यह ज़मीन तत्कालीन भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा सरकार ने पट्‌टे पर दी थी. आरजीसीटी के पक्ष में आठ जनवरी 2010 को पट्‌टा दिए जाने का करार हुआ. इस पर सात जनवरी 2012 तक आंखों का अस्पताल बनाए जाने की योजना थी. लेकिन ट्रस्ट ने अब तक यह अस्पताल नहीं बनाया. लिहाज़ा डीटीसीपी ने इसी आधार पर उसका प्रमाण पत्र रद्द कर दिया.

डीटीसीपी ने इस बाबत पंचायत विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखकर ज़मीन का आवंटन रद्द करने की प्रक्रिया शुरू करने का आग्रह किया है. डीटीसीपी ने इस पत्र में लिखा है, ‘आरजीसीटी को उल्लवास ग्राम पंचायत ने कुछ निश्चित शर्तों के तहत ज़मीन दी थी. इनमें एक शर्त यह भी थी कि पट्‌टा ज़ारी होने के दो साल के भीतर ज़मीन उस इस्तेमाल में लानी होगी जिसके लिए वह ली गई. लेकिन यह समय सीमा निकल चुकी है और आवेदक (ट्रस्ट) अब तक तय शर्त (अस्पताल बनाने की) पूरी नहीं कर पाए हैं.’

Share With:
Rate This Article