SCO में भारत-पाक के द्विपक्षीय मामलों पर रोक, क्षेत्रीय संबंध होंगे अहम: चीन

चीन ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ ) में भारत एवं पाकिस्तान का स्वागत करते हुए गुरुवार को उन आशंकाओं को खारिज कर दिया कि दोनों पड़ोंसी देशों के बीच मतभेद से समूह की एकता को नुकसान पहुंचा सकता है.

चीन ने कहा कि घोषणापत्र में सदस्यों पर उनकी द्विपक्षीय शत्रुता को संगठन में लाने पर रोक लगाई गई है. चीन के सहायक विदेश मंत्री कोंग शियानयू ने समूह के नए सदस्यों के तौर पर दोनों देशों का औपचारिक स्वागत करते हुए यहां एससीओ मुख्यालय में कहा, ‘शंघाई सहयोग संगठन के संस्थापक सदस्य के तौर पर हम भारत एवं पाकिस्तान के सदस्य बनने से खुश हैं.

आठ सदस्यों वाले इस संगठन के अहम सदस्य चीन में संगठन का मुख्यालय है. भारत एवं पाकिस्तान के ध्वजारोहण के लिए इस मुख्यालय में आज एक समारोह आयोजित किया गया.

चीन में भारत के राजदूत विजय गोखले और उनके पाकिस्तानी समकक्ष मसूद खालिद इस समारोह में शामिल हुए. भारत एवं पाकिस्तान को आठ-नौ जून को कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में आयोजित एससीओ शिखर सम्मेलन में सदस्य के तौर पर औपचारिक रूप से शामिल किया गया था.

Share With:
Rate This Article