राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहने वाले कांग्रेसी नेता बर्ख़ास्त

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहने वाले उत्तर प्रदेश के कांग्रेसी नेता विनय प्रधान को पार्टी ने बर्ख़ास्त कर दिया है. प्रधान मेरठ जिला इकाई के अध्यक्ष थे. राज्यस्तरीय अनुशासन समिति के अध्यक्ष रामकृष्ण द्विवेदी ने प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर से मशविरा करने के बाद यह फैसला लिया.

एक अंग्रेजी अखबार के हवाले से सामने आई ख़बरों में बताया गया है कि प्रधान ने हाल में ही पार्टी के स्थानीय कार्यकर्ताओं के व्हाट्सऐप ग्रुप पर एक संदेश भेजा था. इसमें उन्होंने लिखा, ‘राहुल गांधी को इस देश के लोगों का एक वर्ग पप्पू कहता है.

लेकिन लोग इस बात के भी गवाह हैं कि पप्पू की ज़ीवनशैली तड़क-भड़क वाली कभी नहीं रही. अडानी और अंबानी जैसे उद्योगपतियों की पार्टियों में भी पप्पू कभी नहीं गए. क्योंकि पप्पू जानते थे कि ये उद्योगपति ग़रीबों का शोषण कर ख़जाना भर रहे हैं. पप्पू आसानी से देश के प्रधानमंत्री बन सकते थे. लेकिन वे नहीं बने.’

ख़बरों के मुताबिक प्रधान का यह संदेश जल्द ही वायरल हो गया. इसके बाद पार्टी के मेरठ जिले के प्रवक्ता अभिमन्यु त्यागी ने वरिष्ठ नेताओं को पत्र लिखकर प्रधान को तुरंत बर्खास्त करने की मांग कर डाली. उन्होंने लिखा कि यह पार्टी नेतृत्व की छवि ख़राब करने की कोशिश है. हालांकि इस बाबत प्रधान की दलील है कि जो संदेश वायरल हो रहा है वह उन्होंने भेजा ही नहीं है.

उनका कहना था, ‘कुछ लोग मेरी छवि ख़राब करना चाहते हैं. यह उनकी ही कोशिशों का हिस्सा है. मैं राहुल जी का सम्मान करता हूं. मैंने उनके लिए इस भाषा का कभी इस्तेमाल नहीं किया.’

 

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment