SCO सम्मेलन: चीनी राष्ट्रपति ने रद्द की नवाज शरीफ से मुलाकात

चीन ने शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) की बैठक में पाकिस्तान को करारा झटका दिया है. बैठक के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ मुलाकात से मना कर दिया.

खबरों के अनुसार बलूचिस्तान में दो चीनी शिक्षकों की हत्या के प्रति नाराजगी व्यक्त करने के लिए चीनी राष्ट्रपति ने यह अप्रत्याशित कदम उठाया.

चीन के सरकारी मीडिया ने भी अपने राष्ट्रपति शी जिनपिंग की कजाखस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के साथ मुलाकात को खासी प्रमुखता दी.

वहीं, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ कजाखस्तान, उजबेकिस्तान, अफगानिस्तान और रूसी राष्ट्रपति से मुलाकात कर अस्ताना से स्वदेश के लिए रवाना हो गए.

दरअसल, बलूचिस्तान के क्वेटा में पिछले महीने दो चीनी नागरिकों का अपहरण करके इस्लामिक स्टेट (आइएस) के आतंकियों ने दोनों की बर्बरतापूर्वक हत्या कर दी. इस वारदात से चीनी नागरिकों में बेहद नाराजगी थी.

खास बात यह है कि इन हत्याओं की खबर 8-9 जून को आयोजित एससीओ की बैठक से पूर्व सार्वजनिक हुई. इस बैठक में भारत और पाकिस्तान दोनों को सदस्य के तौर पर संगठन में शामिल कर लिया गया.

हालांकि, चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चनिंग ने शुक्रवार को कहा था कि इन हत्याओं का ‘चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे’ (सीपीईसी) से कोई लेना-देना नहीं है. बलूचिस्तान के लोग 50 अरब अमेरिकी डॉलर की लागत से बन रहे इस गलियारे का विरोध कर रहे हैं.

यह चीन के जिनजियांग को पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर के रास्ते बलूचिस्तान स्थित ग्वादर बंदरगाह को जोड़ता है. सीपीईसी चीन के महत्वाकांक्षी ‘बेल्ट एंड रोड इनीशिएटिव’ (बीआरआइ) का हिस्सा है.

Share With:
Rate This Article