हरियाणा की बेटी ने किया दो चोटियों का आरोहरण, ‘मां-बेटी’ दिया नाम

हरियाणा सरकार के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की ब्रांड एंबेसेडर सुनीता सिंह चौकन ने अपने साथियों के साथ गंगोत्री ग्लेशियर के रक्तवन क्षेत्र में दो चोटियों का आरोहण किया है। इन चोटियों का पहली बार आरोहण होने पर सुनीता चौकन ने एक चोटी को ‘मां’ और दूसरी को ‘बेटी’ नाम दिया।

सुनीता वर्ष 2011 में एवरेस्ट भी फतह कर चुकी हैं। गंगोत्री हिमालय क्षेत्र में 52 पर्वत शिखर हैं। इन सबका पर्वतारोही आरोहण कर चुके हैं और इनके नाम भी पर्वतारोहियों व स्थानीय लोगों ने ही रखे। लेकिन, गंगोत्री हिमालय में कुछ शिखर ऐसे भी हैं, जिनकी ऊंचाई छह हजार मीटर से अधिक है। आरोहण न होने के कारण इनका नामकरण भी नहीं हुआ है। ऐसे ही दो पर्वत शिखरों का नामकरण गत चार जून को एवरेस्ट विजेता एवं हरियाणा की ब्रांड एंबेसेडर सुनीता चौकन ने उनका आरोहण कर किया।

इनमें 6009 मीटर ऊंची चोटी को उन्होंने ‘मां’ और 6020 मीटर ऊंची चोटी को ‘बेटी’ नाम दिया। रेवाड़ी निवासी 30 वर्षीय सुनीता ने बताया कि 26 मई को वह एवरेस्ट विजेता विष्णु सेमवाल सहित चार साथियों के साथ गंगोत्री से गोमुख के लिए चली थी। सुदर्शन पर्वत की दायीं ओर की घाटी में आगे बढ़ते हुए उन्हें पांच चोटियों की शृंखला नजर आई। चार जून की सुबह दोनों चोटियों का आरोहण कर उनका नामकरण किया गया।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment