किसानों का कर्ज माफ करे महाराष्ट्र सरकार वरना मध्यावधि चुनाव तय: शिवसेना

दिल्ली

महाराष्ट्र की बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार में शामिल शिवसेना खुद ही सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के पक्ष में खड़ी हो गई है. शिवसेना ने बीजेपी से कहा है कि यदि वह राज्य में मध्यावधि चुनाव से बचना चाहती है तो किसानों का कर्ज पूरी तरह माफ करे.

दूसरी तरफ किसानों के हड़ताल पर जाने के 9 दिन बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को किसानों की कर्जमाफी सहित अन्य मांगों पर विचार करने के लिए मंत्रियों की एक उच्चस्तरीय समिति गठित कर दी है. इस समिति के अध्यक्ष राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील बनाए गए हैं.

किसानों के पक्ष में शिवसेना ने अपना नजरिया ऐसे समय में जाहिर किया है जब महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस सरकार किसानों के प्रदर्शन के चलते विपक्ष के निशाने पर है. इस बीच ऐसी खबरें भी आई हैं कि भाजपा समय से पहले विधानसभा चुनाव कराने पर भी विचार कर रही है. महाराष्ट्र में बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए सरकार अक्तूबर 2014 में बनी थी.

सीएम फडणवीस ने किसानों के प्रदर्शन के बीच छोटे और सीमांत किसानों के कर्ज माफ करने की घोषणा की थी, लेकिन शिवसेना किसानों का कर्ज पूरी तरह माफ करने की मांग कर रही है.

शिवसेना के सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को एक मराठी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि यदि पार्टी सत्ता छोड़ देती है तो उस पर कोई असर नहीं पड़ेगा. राउत ने कहा, ‘‘हम कुछ नहीं गंवाएंगे और यदि हम सत्ता छोड़ भी दें तो हम पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा. मध्यावधि चुनाव की सूरत में हम भाजपा से बेहतर तरीके से तैयार हैं. यदि सरकार इससे बचना चाहती है तो उसे किसानों का कर्ज तत्काल पूरी तरह माफ कर देना चाहिए.’’

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment