पाक फंडिंग मामला: 1500 करोड़ में से आधे हुर्रियत नेताओं ने खुद पर खर्च किए

जम्मू कश्मीर में अलगाववादी हुर्रियत नेताओं को पाकिस्तान से पिछले 8 साल में 1500 करोड़ रुपए मिले। इनमें से आधी रकम उन्होंने अपनी निजी जिंदगी ठाठ से बिताने पर खर्च की। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह खुलासा एनआईए को हुर्रियत नेताओं के यहां छापों में मिले दस्तावेजों से हुआ है। पाकिस्तान ने इन्हें यह रकम घाटी में हिंसा और आतंकवाद फैलाने के लिए रिसोर्स जुटाने के मकसद से दी थी।

हुर्रियत नेताओं की महंगी लाइफ स्टाइल भी पाक के खर्चे से
– एनआईए सोर्सेज के मुताबिक, हुर्रियत नेताओं की महंगी लाइफ स्टाइल और उनके बच्चों की विदेशों में महंगी पढ़ाई भी पाकिस्तान से मिले फंड से पूरी होती है।
– जांच एजेंसी ने 3 और 4 जून को हुर्रियत नेताओं के श्रीनगर, जम्मू, दिल्ली, हरियाणा के 3 दर्जन ठिकानों पर छापे मारे थे। यह छापेमारी मनी लाॅन्ड्रिंग और पाक से धन लेने के सबूत मिलने के बाद की गई थी। 1990 के बाद पहली बार हुर्रियत नेताओं के यहां इस तरह छापे मारे गए हैं।
छापे में मिले थे लश्कर-हिजबुल के लेटरहेड्स
– एनआईए को हुर्रियत नेताओं के यहां छापे में लश्करे-तैयबा और हिजबुल मुजाहिदीन के लेटरहेड्स बरामद हुए थे। सोर्सेज के मुताबिक इन छापों में 3 करोड़ कैश के अलावा करोड़ों की प्रॉपर्टी का भी पता चला है। इसके अलावा लैपटॉप, पेन-ड्राइव्स भी मिले थे।

Share With:
Rate This Article