ईरान की संसद पर बड़ा हमला, इस्लामिक स्टेट ने ली हमले की जिम्मेदारी

ईरान की संसद और यहां के क्रांतिकारी संस्थापक रूहुल्लाह खोमैनी के मकबरे पर आज बंदूकधारियों और आत्मघाती हमलावर ने सुनियोजित हमले किए जिसमें कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 39 से ज्यादा लोग घायल हो गए.

सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी. हमले के पीछे किसका हाथ है, यह अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन सीरिया और इराक में इस्लामिक स्टेट समूह के खिलाफ लड़ाई में ईरान एक अह्म भूमिका निभा रहा है.

उधर ईरान की राजधानी में आज हुए दोहरे हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट समूह ने ली. आईएस की प्रचार एजेंसी अमाक ने यह जानकारी दी. एक हमला ईरान की संसद पर हुआ जबकि दूसरा देश के क्रांतिकारी संस्थापक रूहुल्ला खुमैनी के मकबरे पर हुआ. एजेंसी ने सुरक्षा से जुड़े सूत्र के हवाले से बताया, इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों ने तेहरान में खुमैनी के मकबरे और संसद भवन पर हमला किया.

शहर के दक्षिण क्षेत्र में स्थित खोमैनी के मकबरे के परिसर में कई सशस्त्र हमलावर घुस आए, उन्होंने कथित तौर पर एक माली की हत्या कर दी जबकि तेहरान स्थित संसदीय परिसर में चार बंदूकधारी घुस आए जिन्होंने एक सुरक्षा गार्ड की हत्या कर दी. खबरों के मुताबिक हमलों में कम से कम आठ लोग घायल हो गए.
खोमैनी मकबरे के एक अधिकारी ने कहा पश्चिमी प्रवेश द्वार से तीन से चार लोग घुस आए और गोलीबारी करने लगे. इस हमले में एक माली की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल हो गए. फार्स समाचार एजेंसी ने यह खबर दी. फार्स ने बताया कि महिला फिदायीन ने मकबरे के बाहर विस्फोट कर खुद को उड़ा लिया.
Share With:
Rate This Article