मध्य प्रदेश: किसान आंदोलन के दौरान फायरिंग में 5 किसानों की मौत, सीएम ने दिए जांच के आदेश

मध्य प्रदेश में जारी किसान आंदोलन में हिंसा का दौर थम नहीं रहा है. मंगलवार को मंदसौर में आंदोलनकारियों ने 8 ट्रक और 2 बाइक को आग के हवाले कर दिया. पुलिस और सीआरपीएफ पर पथराव भी किया.

हालत पर काबू पाने के लिए सीआरपीएफ की फायरिंग में 5 किसानों की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए. इसके बाद शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया.

एमपी के होम मिनिस्टर भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पुलिस की तरफ से कोई फायरिंग नहीं हुई. बता दें कि किसान कर्ज माफी समेत कई मांगें कर रहे हैं. एक धड़े का सरकार से समझौता हो चुका है, लेकिन इसके बावजूद हिंसा जारी है. रतलाम में रविवार को पथराव में एक एसआई की आंख फूट गई थी.

वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आनन-फानन में मुख्यमंत्री निवास पर प्रेस कांफ्रेन्स बुलाकर कहा, मध्यप्रदेश सरकार किसानों की सरकार है. मेरी सरकार ने किसानों की समस्याओं को दूर करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएं हैं. किसान आंदोलन के दौरान जो लोग हिंसा कर रहे हैं, वे किसान नहीं बल्कि असामाजिक तत्व है. वे किसानों के आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.

इसके साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जांच के आदेश दिए हैं।

Share With:
Rate This Article