‘कुवैत राजनियक संकट’ दूर करने और मध्यस्थता का प्रयास कर रहा है कतर

कतर के विदेश मंत्री ने कहा है कि अरब देशों द्वारा दोहा के साथ राजनयिक संबंध खत्म करने के बाद उपजे राजनयिक संकट को सुलझाने में कुवैत मध्यस्थता करने का प्रयास कर रहा है. मंत्री ने कहा है कि कुवैत के शासक ने कतर के अमीर शेख तमीम बिन हम्माद अल थानी को संकट पर संबोधन देने से रुकने को कहा है.

विदेश मंत्री शेख मुहम्मद बिन अब्दुल रहमान अल थानी ने बताया कि उनका देश उन्हें खारिज करता है जो अपनी इच्छा कतर पर थोपने का प्रयास कर रहे हैं या इसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने की कोशिश कर रहे हैं.

बहरीन, मिस्र, सउदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात ने सोमवार को कतर के साथ सभी राजनयिक संबंध खत्म कर लिए थे और उन्होंने कतर के विमान और जहाज के लिए अपनी जमीन, समुद्र और हवाई अड्डे बंद करने के आदेश दिए थे.

यह इस क्षेत्र का साल 1991 के खाड़ी युद्ध के बाद का सबसे बड़ा राजनियक संकट है. सूडान ने भी कतर और उसके पड़ोसी खाड़ी अरब देशों के बीच मेल-मिलाप कराने के प्रयास का प्रस्ताव दिया है. इन देशों ने कतर के साथ आतंकवाद का समर्थन का आरोप लगाते हुए संपर्क तोड़ लिए थे.

Share With:
Rate This Article