जेवर गैंगरेप: महिला पीड़ितों ने की आत्महत्या की कोशिश, पुलिस पर लगाए आरोप

जेवर इलाके में परिवार से लूट, हत्या और गैंगरेप पीड़ित तीनों महिलाओं ने आत्महत्या की कोशिश की है. उनमें से एक महिला ने पंखे से लटक कर जान देनी की कोशिश की. घर के अंदर पंखे से लटकते वक्त परिजनों की नजर पड़ जाने से महिला की जान बच गई. समय रहते पता चल जाने की वजह से परिजनों ने पीड़िता को बचा लिया.

आपको बता दें कि पीड़ित परिवार आरोपियों की गिरफ्तारी की लंबे समय से मांग कर रहा है. पीड़ित परिवार ने पुलिस कार्यशैली पर भी सवाल उठाए हैं. पीड़ित महिला के परिजनों के अनुसार, कस्बे के मोहल्ला चोथय्यापट्टी निवासी गैंगरेप पीड़िता रविवार दोपहर करीब एक बजे दुपट्टे का फंदा लगा पंखे से लटक गई. महिला ने दरवाजे को बंद कर दिया था, लेकिन तभी परिवार की एक युवती ने खिड़की से उसे देख लिया और शोर मचा दिया.

शोर सुनकर महिला का पति व अन्य लोग दरवाजे में धक्का मारकर कुंडी तोड़ी ओर समय रहते महिला का फंदे से उतार लिया. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. बताया जा रहा है कि बदमाशों के नहीं पकड़े जाने से महिला परेशान है.

प्रशासन की ओर से प्राइमरी जांच में रेप की पुष्टि नहीं होने की बात ने उसकी मानसिक हालत और खराब हो गई. जेवर कोतवाली एसओ राजपाल तोमर ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस महिला के घर गई थी, लेकिन वहां ऐसा कुछ नहीं पाया गया.

बता दें की 24 मई की रात जेवर बुलंदशहर स्टेट हाइवे पर बदमाशों ने स्क्रैप व्यापारी के परिवार को बंधक बना लूटपाट की थी. बदमाशों ने चार महिलाओं से गैंगरेप किया था और व्यापारी की हत्या कर दी थी. इस मामले में अभी तक पुलिस बदमाशों को अरेस्ट नहीं कर सकी है.

 

Share With:
Rate This Article