असिस्टेंट लाइब्रेरियनों को समान पे स्केल देने के मामले में HC ने मुख्य सचिव को आदेश दिए

हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव को आदेश दिए हैं कि वह असिस्टेंट लाइब्रेरियनों को एक समान पे स्केल देने के मामले में दो हफ्ते में कारगर कदम उठाएं, अन्यथा वे मामले की अगली सुनवाई के दौरान कोर्ट में उपस्थित रहे.
कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल व न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान की खंडपीठ ने डीआर चौहान, संत राम चौहान व लायक राम शर्मा की ओर से दायर अवमानना याचिका की सुनवाई के दौरान यह आदेश जारी किए.
हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि सभी लाइब्रेरियन एक सी योग्यता रखते हैं और उन्हें नियुक्ति की तारीख के आधार पर पे स्केल देना न्यायसंगत नहीं है.
कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि असिस्टेंट लाइब्रेरियन काफी समय से एक समान पे स्केल की मांग कर रहे हैं और पहले ट्रिब्यूनल, फिर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी उनके हक में फैसले दे चुके हैं। सरकार ने फिर भी असिस्टेंट लाइब्रेरियनों को एक समान पे स्केल नहीं दिया.
कई प्रार्थियों ने सरकार के उस आदेश को चुनौती दी थी जिसके तहत कुछ लाइब्रेरियनों को उनकी वरिष्ठता के आधार पर हाई पे स्केल देने का फैसला लिया गया था और बाकी लाइब्रेरियनों को छोड़ दिया था.
Share With:
Rate This Article
No Comments

Sorry, the comment form is closed at this time.