हिमाचल उद्योग विभाग के संयुक्त निदेशक फिर दो दिन की रिमांड पर

पांच लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार हिमाचल उद्योग विभाग के संयुक्त निदेशक तिलकराज शर्मा और उनके साथी अशोक राणा को दो दिन की रिमांड पूरी होने के बाद सीबीआई ने जिला कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने सीबीआई की अर्जी पर आरोपियों की रिमांड दो दिन के लिए बढ़ा दी है.

इससे पहले मंगलवार को तिलकराज शर्मा और अशोक राणा को सीबीआई ने कोर्ट में पेश किया था, जहां से उन्हे दो दिन की रिमांड पर भेज दिया गया था, सीबीआई की टीम ने आरोपियों के चंडीगढ़ स्थित निवास पर छापेमारी की, और उनके बैंक खातों की भी जांच की

रिश्वत का आरोपी अफसर पहले से ही विवादों में रहा है. सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि ऐसी क्या खासियत थी जो तिलकराज तेरह साल से बद्दी में ही पोस्टेड था.

पहले भी तिलकराज के खिलाफ शिकायतें आती रहीं, लेकिन सरकार ने कार्रवाई में कोई चुस्ती नहीं दिखाई. सचिवालय में तिलकराज के खिलाफ शिकायतें पहुंची थी. वहां से शिकायतों को उद्योग विभाग भेजा गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. आरोपी के विरुद्ध कोई आठ साल पहले सचिवालय को शिकायत मिली थी.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment