बॉलीवुड अभिनेत्री राखी सावंत के खिलाफ फिर जारी हुआ गैर जमानती वारंट

लुधियाना

स्थानीय अदालत ने शुक्रवार को बॉलिवुड ऐक्ट्रेस राखी सावंत के खिलाफ महर्षि वाल्मीकि के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में एक बार फिर गैरजमानती वॉरंट जारी किया है.

बता दें कि 2016 में राखी सावंत द्वारा दिए गए कॉमेंट ने पूरे देश में विवाद पैदा कर दिया था और इसके खिलाफ लुधियाना में लगातार प्रोटेस्ट हो रहे थे.

राखी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि ऐक्ट्रेस को कानून अपने हाथ में लेने का कोई अधिकार नहीं है, इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए. लुधियाना की अदालत ने 9 मार्च को वाल्मीकि के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए वॉरंट जारी किया था. राखी की टिप्पणी से कथित तौर पर वाल्मीकि समाज की भावनाएं आहत होने का आरोप लगाया गया है.

इस मामले की सुनवाई 11 मई को होनी थी, लेकिन राखी कोर्ट में मौजूद नहीं हुर्इं. पेश न होने के कारण कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वारेंट जारी किया गया था और आज इस मामले की सुनवाई हुई थी जहां, फिर से राखी सांवत पेश नहीं हुई और उनके खिलाफ गैरजमानती वांरट जारी कर दिया गया.

हालांकि अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताते हुए राखी ने कहा, ‘मैंने कोई गलती नहीं की है और मैं समाजसेवा करने में विश्वास रखती हूं.’ इस विवाद पर बात करते हुए बॉलिवुड ऐक्ट्रेस ने कहा कि उन्होंने हृदय परिवर्तन के लिए उन्होंने महर्षि वाल्मीकि का उदाहरण दिया था.

बता दें कि राखी ने अपने दोस्त सिंगर मीका सिंह की तुलना महर्षि वाल्मीकि से की थी, जिनके ऊपर हमला करने का मामला दर्ज कराया गया था.

इस मामले पर राखी ने माफी मांगते हुए यह भी कहा, ‘मैं वाल्मीकि समुदाय के भाई-बहनों से माफी मांगती हूं अगर मैंने उनकी भावनाओं को दुख पहुंचाया हो मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था.’

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment