‘मन की बात’ कार्यक्रम में बोेले PM मोदी-लोकतंत्र में सरकारों को जवाबदेह होना चाहिए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश से मन की बात की.  यह इस रेडियो कार्यक्रम का 32वां संस्करण था. इससे पहले पीएम मोदी ने 30 अप्रैल को देश से मन की बात की थी.

अपने संबोधन में उन्‍होंने युवाओं से अपने ‘कम्फर्ट जोन’ से बाहर निकलने और नित नए अनुभव करने की अपील की थी. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने वीआईपी कल्‍चर को खत्‍म कर उसकी जगह ईपीआई (एवरी पर्सन इज इंपॉर्टेंट) का अनुसरण करने को कहा था.

मुस्लिमों को रमजान की शुभकामनाएं देते हुए मोदी ने कहा कि भारत को इस बात पर गर्व है कि यहां सभी संप्रदाय के लोग रहते हैं प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के माध्यम से प्रकृति से जुड़ें.

PM मोदी ने 21 जून को तीसरे योग दिवस पर एक परिवार की तीन पीढ़ियो द्वारा योग किए जाने की तस्वीरें शेयर करने का आह्वान किया। साथ ही पीएम ने बताया कि देश के 4000 शहरों में अब सॉलिड और लिक्विड वेस्ट के लिए दो तरह के कूड़ेदान रखे जाएंगे.

इसके अलावा अपनी सरकार के 3 साल पूरे होने के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने उन सभी लोगों का धन्यवाद दिया जिन्होंने सर्वे के माध्यम से सरकार के कामकाज की विवेचना की.

सरकार के तीन साल पूरे हुए हैं. 3 साल का लेखा-जोखा चल रहा है. ढेर सारे सर्वे हुए हैं. मैं इन सारी प्रक्रियाओं को हेल्दी साइन मानता हूं. सरकार को हर कसौटी पर कसा गया है. लोकतंत्र में यह उत्तम प्रक्रिया है. उन सब लोगों का धन्यवाद करता हूं जिन्होंने हमारे काम की विवेचना की. सब की बातों का महत्व है.

 

Share With:
Rate This Article