स्कार्दू के लोगों ने की मांग, गिलगित-बाल्टिस्तान से कब्जा हटाए पाकिस्तान

स्कार्दू

गिलगित-बा​ल्टिस्तान के स्कार्दू इलाके में पाकिस्तान सरकार के ​खिलाफ प्रदर्शन का दौर जारी है. प्रदर्शनकारी गिलगित-बा​ल्टिस्तान से पाकिस्तान के अवैध कब्जे को हटाने की मांग कर रहे हैं.

एक प्रदर्शनकारी अमजद का कहना है ​कि गिलगित-बा​ल्टिस्तान के हर जमीन के मालिक स्थानीय लोग हैं. कोई मां का लाल ये मिल्कियत स्थानीय लोगों से नहीं छीन सकता ​है.

गौरतलब है कि इस साल मार्च में पाकिस्तान ने गिलगित-बा​ल्टिस्तान को देश का पांचवा राज्य घोषित किया था, जिस पर भारत ने कड़ा विरोध जताया था.

ब्रिटेन की संसद ने गिलगिट-बाल्टिस्तान को भारत का संवैधानिक हिस्सा बताते हुए पाकिस्तान द्वारा इसे अलग प्रांत घोषित करने के प्रस्ताव की निंदा की थी.

ब्रिटेन ने साफतौर पर कहा था कि पाकिस्‍तान ने इस क्षेत्र पर 1947 के बाद से ही अवैध रूप से कब्‍जा जमा रखा है, जबकि यह कानूनी तौर पर जम्‍मू-कश्‍मीर का अभिन्‍न अंग है.

इस संबंध में ब्रिटिश संसद में पेश हुए प्रस्ताव में कहा गया, ‘गिलगित-बाल्टिस्तान कानूनी और संवैधानिक रूप से भारत के जम्मू-कश्मीर का हिस्सा है. यह प्रस्‍ताव 23 मार्च को कंजरवेटिव पार्टी के नेता बॉब ब्‍लैकमेन ने रखा था. उन्होंने कहा, 1947 से ही इसपर पाकिस्तान ने गैरकानूनी कब्जा कर रखा है. इस इलाके के लोगों को मूलभूत सुविधाएं तक मुहैया नहीं हैं, यहां तक कि उन्हें अभिव्यक्ति की आजादी तक नहीं मिलती है.’

प्रस्ताव में आगे लिखा है कि इस इलाके के जनसंख्या वितरण में किसी भी तरह का बदलाव करना इस विवादित क्षेत्र में तनाव भड़काने जैसा होगा.

Share With:
Rate This Article