फिलीपींस में मार्शल लॉ, आतंकियों को मारने के लिए सेना के टैंक शहर में घुसे

मरावी

दक्षिणी फिलीपीन के मरावी शहर में इस्लामिक स्टेट से जुड़े आतंकियों ने इमारतों में आग लगा दी. आतंकियों ने एक दर्जन से अधिक कैथोलिक लोगों को बंधक बना लिया और आईएसआईएस का झंडा फहराया. आतंकियों की गोलीबारी और विस्फोटों की आवाज से शहर दहल उठा. जिसके बाद सेना के टैंकों ने शहर में प्रवेश किया है.

मंगलवार से शुरू हुई लड़ाई में कम से कम 21 लोग मारे जा चुके हैं. सेना के मुताबिक़ कुछ विद्रोही गुटों ने चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के लिए समर्थन जताया था और मरावी में जब सेना ने इन विद्रोहियों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया तो हिंसा भड़क उठी थी.

सेना ने फिलीपीन में इस्लामिक स्टेट के सरगना इस्निलन हैपिलन के मरावी पर छापा मारा. हैपिलन को अमेरिका ने वांछित आतंकियों की सूची में डाला हुआ है और उस पर 50 लाख डॉलर का इनाम घोषित है.

आतंकियों के खिलाफ यह अभियान उल्टा पड़ गया. आतंकी टुकड़ियों में शहर में पहुंचे और पूरे शहर में फैल गए. लेकिन हैपिलन के ठिकाने के बारे में कुछ पता नहीं चला. ऐसा कोई संकेत नहीं मिला कि वह सेना की कार्रवाई में पकड़ा गया.

राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने दक्षिणी फिलीपीन शहर में मार्शल लॉ घोषित किया है और कहा है कि इसका विस्तार देशभर में किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि इसके लिए सख्त रुख अपनाया जायेगा. उन्होंने कहा, अगर मैं सोचता हूं कि तुम्हें मरना चाहिए तो तुम मर जाओगे. अगर तुम हमसे लड़ोगे तो तुम मर जाओगे, खुली चुनौती है.

विशेष परिस्थितियों में जब किसी देश की न्याय व्यवस्था को सेना अपने हाथ में ले लेती है, तब जो नियम प्रभावी होते हैं उन्हें सैनिक कानून या मार्शल लॉ कहा जाता है.

Share With:
Rate This Article