स्‍वदेश लौटी भारतीय महिला उजमा, बॉर्डर पर देश की मिट्टी को किया नमन

अमृतसर

पाकिस्तान में बंदूक की नोक पर जबरन शादी की शिकार हुई भारतीय महिला उज्मा अहमद भारत लौट आई हैं. इस्लामाबाद हाई कोर्ट से मिले इजाजत के बाद उज्मा गुरुवार की सुबह अटारी-वाघा बॉर्डर के जरिए भारत लौटीं. भारतीय सीमा में प्रवेश करने से पहले उज्मा ने धरती को छूकर प्रणाम किया.

उज्मा के भारत लौटने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि भारत की बेटी का घर में स्वागत है, तुम्हारे साथ जो भी हुआ उसके लिए मुझे खेद है.

उज्मा के भाई वसीम अहमद ने बहन की वतन वापसी पर खुशी जताई और कहा कि मामले में हमें सुषमा जी से अपडेट मिलता रहा. उज्मा से मेरी एक बार बात भी कराई, भारत सरकार ने हमारी बहुत मदद की, विदेश मंत्रालय का बहुत-बहुत शुक्रिया. वसीम ने कहा कि उज्मा भारत तो लौट आई हैं, लेकिन पता नहीं दिल्ली वापस कब आएंगी क्योंकि उनकी फ्लाइट लेट है.

गौरतलब है कि पाकिस्तानी शख्स से कथित तौर पर शादी को मजबूर की गई उज्मा को इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने एक दिन पहले ही भारत लौटने को मंजूरी दी थी.

उज्मा का दावा था कि पाकिस्तान के बुनेर के रहने वाले ताहिर अली से निकाह के लिए उन्हें मजबूर किया गया. उनके माथे पर बंदूक रखकर उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई और प्रताड़ित और अपमानित किया गया. बुधवार को सुनवाई के दौरान पाकिस्तानी न्यायाधीश मोहसिन अख्तर कयानी ने उज्मा से पूछा था कि क्या वह उनके चैम्बर में अपने ‘शौहर’ से मिलना चाहती हैं? इस पर उज्मा ने इससे इनकार कर दिया था.

उच्च न्यायालय ने आदेश दिया कि उज्मा अपने देश जा सकती हैं और इस मामले की सुनवाई उनकी अनुपस्थिति में होगी. उज्मा ने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग में शरण ले रखी थी. वह वतन लौटना चाहती थीं.

Share With:
Rate This Article