पनामा पेपर्स मामला: मुश्किल में नवाज शरीफ, वकीलों ने कहा 7 दिन में दें इस्तीफा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ एक बार फिर से मुश्किल में पड़ गए है. पाक में सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन और लाहौर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने नवाज शरीफ को सात दिन के अंदर सत्ता छोड़ने का अल्टीमेटम दिया है, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर पीएम नवाज शरीफ ने सात दिनों में सत्ता नहीं छोड़ी, तो वे उनके खिलाफ देशभर में आंदोलन शुरू करेंगे.

दोनों बार एसोसिएशन की ओर से जारी साझा बयान में कहा गया है, दोनों बार एसोसिएशन का मानना है कि पनामा पेपर्स मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मद्देनजर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अब अपने पद बने नहीं रहना चाहिए और इस्तीफा दे देना चाहिए.

इन दोनों बार एसोसिएशनों ने कहा कि पनामा  ने इस बात का स्पष्ट संकेत दिया है कि शरीफ और उनके बच्चों ने वित्तीय अनियिमताएं और भ्रष्टचार किए और इसी वजह से जांच के लिए संयुक्त जांच दल (जेआईटी) का गठन किया गया है.

बार एसोसिएशन की यह चेतावनी 19 मई को वकीलों की एक सभा पाकिस्तान की सत्ताधारी नवाज की पार्टी पीएमएल-एन के समर्थक वकीलों और इन दोनों बार एसोसिएशनों के सदस्यों के बीच हुई झड़प के ठीक बाद आई है.

 

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment