उत्तराखंड में भूस्खलन से सैकड़ों यात्री फंसे, बद्रीनाथ राजमार्ग बंद

उत्तराखंड में भूस्खलन की वजह से बद्रीनाथ यात्रा पर गए सैकड़ों यात्री फंस गए हैं. चट्टानें किसकने के बाद बदरीनाथ यात्रा फिलहाल रोक दी गई है. इसके बाद ऋषिकेश-बदरीनाथ हाइवे को ठीक करने के लिए काम तेजी से शुरु कर दिया गया है।

चमोली के जिलाधिकारी आशीष जोशी ने बताया कि सीमा सड़क संगठन के जवान मलबे को साफ करने में लगे हैं और शनिवार दोपहर तक राजमार्ग को यातायात के लिये खोल दिया जायेगा. उन्होंने बताया कि बद्रीनाथ की यात्रा पर आये श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न हो, इसके लिये उन्हें जोशीमठ, पीपलकोटी, कर्णप्रयाग, गोविंदघाट और बद्रीनाथ में ही सुविधाजनक स्थानों पर ठहरने को कहा गया है.

जिलाधिकारी ने बताया कि पहाड़ी से रुक-रुक कर गिर रहे मलबे को देखते हुए प्रशासनिक अधिकारियों ने जानमाल के नुकसान को बचाने के लिये पहले ही यात्रा को सुरक्षित स्थान पर रोके जाने की व्यवस्था कर दी थी.

राजमार्ग जोशीमठ और बद्रीनाथ के बीच विष्णुप्रयाग के समीप बंद है. दोपहर बाद अचानक हाथीपहाड़ से चट्टान खिसकनी शुरू हो गयी जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग से लेकर अलकनंदा नदी तक का बड़ा इलाका मलबे से भर गया.

Share With:
Rate This Article