बजट सत्र को लेकर तैयारियां शुरू, किसानों की कर्ज माफी होगा अहम मुद्दा.

कैप्टन अमरिंद्र सिंह सरकार द्वारा अपने पहले बजट सत्र को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. सत्ता में आने के बाद कांग्रेस सरकार ने रेगुलर बजट पेश नहीं किया था, क्योंकि बजट तैयार करने के लिए सरकार के पास पर्याप्त समय नहीं था. इसलिए सरकार ने बजट के जगह पर ‘वोट ऑन अकाऊंट’ पेश किया था.
सरकारी सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने वित्त विभाग को निर्देश दिए हैं कि पहले बजट को यादगार बनाया जाए.  इसमें जनता के हितों के जुड़े मुद्दों तथा कांग्रेस के चुनावी वायदों को पूरा करने के लिए एजेंडा पेश किया जाए.  इस संबंध में वित्त विभाग द्वारा कई सरकारी विभागों से सलाह ली जा रही है.

बताया जा रहा है कि पहले बजट में सरकार द्वारा किसानों के कर्ज माफी और युवाओं को नौकरियां देने के संबंध में पहलकदमी की जा सकती है.  इसी तरह से पहले बजट में युवाओं को मोबाइल फोन देने के वायदे को पूरा करने के लिए भी कदम उठाए जाने के आसार है.

अमरेन्द्र सरकार का पहला बजट सत्र जून के मध्य में शुरू होगा. बजट से पहले वित्त मंत्री द्वारा राज्य की आर्थिक स्थिति को लेकर श्वेत पत्र पेश किया जाएगा.

Share With:
Rate This Article