रेलवे स्टेशन्स की स्वच्छता रैंकिंग: 82वें नंबर पर रेवाड़ी, पानीपत सबसे गंदा स्टेशन

रेल मंत्रालय की ओर से स्टेशनों पर स्वच्छता को लेकर रैंकिंग जारी की गई।सर्वेक्षण कुल 407 स्टेशनों पर किया गया। ए-1 श्रेणी में शामिल 75 स्टेशनों में आंध्र प्रदेश के विशाखापट‌्टनम स्टेशन को सबसे स्वच्छ और बिहार के दरभंगा को सबसे गंदे स्टेशन का दर्जा मिला।

टॉप-50 में हरियाणा का कोई भी रेलवे स्टेशन नहीं है। 82वीं रैंक पाने वाला रेवाड़ी हरियाणा में सबसे स्वच्छ है तो 391वें नंबर पर रहा पानीपत स्टेशन सबसे गंदा। करनाल का स्टेशन स्वच्छता में 233वें नंबर पर है।

हरियाणा के स्टेशनों पर कितने फीसदी लोग हैं संतुष्ट:
प्लेटफॉर्म स्वच्छता से 58.05 प्रतिशत
प्लेटफॉर्म एरिया में डस्टबिन से 86.23 प्रतिशत
टॉयलेट की सफाई से 46.55 प्रतिशत
पेयजल की स्वच्छता से 66.09 प्रतिशत
वेटिंग-रूम की सफाई से 52.41 प्रतिशत
73 फीसदी यात्री रहते हैं चूहे, कॉकरोच और मच्छरों से परेशान

इन वजहों से लोग परेशान
प्रदेश के रेलवे स्टेशनों पर 73.61 फीसदी यात्री चूहे, कॉकरोच या मच्छरों से परेशान रहते हैं। जबकि 84.74 फीसदी लोगों ने बताया है कि स्टेशनों पर दुर्गंध आती रहती है। इसके अलावा 74.31 फीसदी यात्री जानते हैं कि स्टेशन पर थूकने, पेशाब करना अपराध है, जबकि कभी कभी 78.96 यात्री यहां जलभराव से भी जूझे हैं।

जानिए, किस क्षेत्र में मिले कितने प्रतिशत अंक
पार्किंग एरिया-25.98 प्रतिशत
मुख्य एंट्री-43.06 प्रतिशत
वेटिंग रूम-66.31 प्रतिशत
मुख्य प्लेटफॉर्म-65.67
क्लीनिंग स्टाफ-54.36

Share With:
Rate This Article