वाटर टैंकर घोटालाः CM केजरीवाल के निजी सचिव से ACB ने की पूछताछ

दिल्ली

वाटर टैंकर घोटाले की जांच अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दफ्तर तक जा चुकी है. बुधवार को एंटी करप्शन ब्रांच ने अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार से करीब साढ़े 3 घंटे तक पूछताछ की.

बता दें कि बिभव कुमार पर दिल्ली सरकार के ही पूर्व जलमंत्री कपिल मिश्रा ने वाटर टैंकर घोटाले की फ़ाइल 11 महीने तक दबाने का आरोप लगाया था.

दरसअल, अरविंद केजरीवाल की सरकार ने ही जुलाई 2015 में 5 लोगों की एक कमेटी बनाकर इस मामले की जांच बिठाई. कमेटी ने उसी साल अगस्त में केजरीवाल को जांच रिपोर्ट सौंप दी, जिसमें कहा गया कि शीला दीक्षित सरकार ने स्टील के वाटर टैंकर लेने और उनमें जीपीएस लगवाने में 400 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया है.

रिपोर्ट आने के बाद भी अरविंद केजरीवाल सरकार ने एसीबी को इस मामले की जांच के आदेश करीब 11 महीने बाद दिए. एसीबी भी केजरीवाल पर फाइल दबाने का आरोप लगा चुकी है, लेकिन पूछताछ हुई केजरीवाल के निजी सचिव से वो भी कपिल मिश्रा के आरोप लगाने के बाद.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment