J&K: टॉपर कश्मीरी युवक और उनकी बहन को आतंकियों ने दी धमकी

जम्मू से असिस्टेंट कमांडेंट नबील अहमद वानी और उनकी बहन को आतंकियों से कोई धमकी नहीं मिली है. दरअसल नबील वानी ने मेनका गांधी को इसलिए चिठ्ठी लिखी थी क्यों की कॉलेज चाहता है कि उनकी बहन हॉस्टल छोड़ दे. ऐसे में वानी ने मेनका को चिट्ठी लिखकर कहा है कि हॉस्टल से बाहर रहने पर मेरी बहन खतरा हो सकता है. क्योंकि कश्मीर के सरकारी अधिकारियों को खतरा बना रहता है  इसलिए हॉस्टल में ही रहने दिया जाए. असिस्टेंट कमांडेंट वानी ने पिछले साल बीएसएफ असिस्टेंट कमांडेंट की परीक्षा में टॉप किया था.

वानी ने कहा कि चंडीगढ़ में सिविल इंजीनियरिंग की छात्रा उनकी बहन एक हॉस्टल में रह रही थी लेकिन कॉलेज प्रशासन अब चाहता है कि वह कहीं और चली जाएं. वानी ने 14 मई को महिला औऱ बाल विकास मंत्री मेनका गांधी को पत्र लिखकर निदा रफीक के लिए हॉस्टल सुविधा की व्यवस्था कराने के लिए कहा.

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘मंत्री ने इस मामले को लेकर तुरंत कॉलेज प्रशासन से बात की जिन्होंने अब बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट नबील की बहन को हॉस्टल में रहने की इजाजत दे दी है.’’

Share With:
Rate This Article