खराब रिजल्ट पर स्कूलों के प्रिंसिपलों का रुकेगा इंक्रीमेंट

10वीं और 12वीं कक्षा में दस फीसदी से कम परीक्षा परिणाम देने वाले सरकारी स्कूलों के प्रिंसिपलों की इंक्रीमेंट रोकी जाएगी. आपको बता दें कि उच्च शिक्षा निदेशालय ने स्कूल शिक्षा बोर्ड से एक हफ्ते के भीतर दोनों बोर्ड कक्षाओं के परीक्षा परिणाम का पूरा ब्योरा तलब कर लिया है।

बोर्ड कक्षाओं में बेहतर नतीजे नहीं देने वाले शिक्षकों पर दबाव बनाने का दौर फिर शुरू हो गया है. पिछले साल भी शिक्षा विभाग ने खराब परिणाम देने वाले शिक्षकों को सस्पेंड करने, इंक्रीमेंट रोकने और तबादले करने की चेतावनियां दी गईं थी. लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ भी नहीं किया गया था.

आपको बता दें कि राज्य में शिक्षकों का सबसे बड़ा कैडर है, ऐसे में सरकार शिक्षकों पर हाथ डालने का दम नहीं भर पाती है. अब देखना दिलचस्प होगा कि इस साल सरकार बोर्ड परीक्षाओं में अच्छा प्रदर्शन नहीं करने वाले सरकारी शिक्षकों पर कोई कार्रवाई कर पाती है या बीते साल की तरह कार्रवाई करने के सभी दावे सिर्फ कोरे ही साबित होंगे।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment