निमोनिया और दिमागी बुखार से बचने के लिए मुफ्त दी जाएगी वैक्सीन: जे पी नड्डा

नैरचौक

देश में अब किसी भी बच्चे की मौत निमोनिया और दिमागी बुखार से नहीं हो सकेगी. निमोनिया और दिमागी बुखार से बचने के लिए देश के बच्चों को न्यूमोकोकल कांज्यूगेट वैक्सीन (पीसीवी) दी जाएगी.

इस वैक्सीन की राष्ट्रव्यापी लांचिंग शनिवार को लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कालेज नेरचौक से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने की. इस लांचिंग के साथ ही भारत वर्ष दुनिया का ऐसा 133वां देश बन गया है, जो कि बच्चों को निमोनिया और दिमागी बुखार से बचाने के लिए वैक्सीन निःशुल्क में देगा.

हालांकि, इससे पहले वैक्सीन निजी क्षेत्र में महंगे दामों पर जरूर उपलब्ध थी, लेकिन अब केंद्र सरकार इसे निःशुल्क में देगी. पहले चरण में इस वैक्सीन को हिमाचल प्रदेश के 12 जिलों, बिहार के 17 और उत्तर प्रदेश के 6 जिलों में बच्चों को दिया जाएगा.

हिमाचल प्रदेश में एक लाख से अधिक बच्चों को यह वैक्सीन मिलेगी. वैक्सीन का पहला टीका बच्चे को 6 हफ्ते पर, दूसरा टीका 14 हफ्ते पर और तीसरी बूस्टर डोज 9 महीने का होने पर दी जाएगी.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment