बठिंडा: आग लगने के बावजूद भी ड्राइवर ने नहीं रोकी बस, 3 की मौत, 26 लोग झुलसे

बठिंडा

रामपुरा खूल के रेलवे फाटक के पास बरनाला-बठिंडा नेशनल हाईवे पर एक प्राइवेट कंपनी की एसी बस शनिवार शाम को धू-धू कर जल उठी. इस भीषण आग में झुलसकर बस में सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 26 लोग झुलस गए हैं.

इनमें से तीन यात्रियों को गंभीर हालत में लुधियाना के डीएमसी में भर्ती करवाया गया है. इसके अलावा 17 का रामपुरा के सिविल अस्पताल में इलाज किया जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक, रूप ट्रांसपोर्ट कंपनी की एसी बस जालंधर से बठिंडा की तरफ आ रही थी. बस जब बरनाला-बठिंडा नेशनल हाईवे पर स्थित रामपुरा के रेलवे फाटक के पास पहुंची तो किसी तकनीकी खराबी के कारण उसमें आग लग गई.

वहीं, बस में बैठे यात्रियों को जब पता चला तो उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया लेकिन चालक तीन सौ मीटर तक बस को उसी हालत में दौड़ा ले गया. चालक ने तब रोकने का प्रयास किया जब पूरी बस आग की लपटों में घिर चुकी थी.

बस में सवार कुछ लोगों ने जब आग की लपटें देखीं तो बस रुकती न देख उन्होंने बस के शीशे तोड़कर चलती बस से छलांग लगाना शुरू कर दिया. स्थानीय लोगों ने जैसे ही लोगों की चीख पुकार सुनी तो उन्होंने बस के शीशे तोड़कर करीब 30 यात्रियों को निकालने का प्रयास किया. इस दौरान सूचना पाकर फायर ब्रिगेड की गाड़ी भी घटनास्थल पर पहुंच गई और आग पर काबू पाया.

मौके पर पहुंची एसडीएम रामपुरा नरिंदर धालीवाल ने बताया कि इस हादसे में तीन लोगों की मौके पर मौत हो गई जबकि 26 लोग घायल हो गए हैं. इनमें तीन की हालत नाजुक होने के चलते उन्हें डीएमसी लुधियाना के लिए रैफर कर दिया गया और बाकी घायलों का उपचार रामपुरा के सिविल अस्पताल में चल रहा है.

उन्होंने बताया कि मृतकों और झुलसे लोगों की अभी पहचान नहीं हो पाई है. पहचान की कोशिश की जा रही है. एसडीएम ने कहा कि प्रशासन की ओर से घायलों का उपचार करवाया जाएगा.

Share With:
Rate This Article