नॉर्दर्न जोन काउंसिल की बैठक में उठा SYL मुद्दा, विवाद सुलझाने पर हुई चर्चा

चंडीगढ़

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई नॉर्दर्न जोन काउंसिल (उत्‍तरी क्षेत्रीय परिषद) की बैठक में राज्‍यों के बीच पानी बंटवारे के मुद्दे अदालत के बाहर सुलझाने का मुद्दा उठा.

बैठक में हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल, पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह, चंडीगढ़ के प्रशासक, पंजाब के राज्‍यपाल वीपी सिंह बदनौर और जम्‍मू-कश्‍मीर के उपमुख्‍यमंत्री निर्मल सिंह ने भाग लिया. बैठक में हिमाचल प्रदेश, राजस्‍थान और दिल्‍ली सरकार की ओर से मंत्री शामिल हुए.

बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपील की है कि उत्‍तरी क्षेत्र के राज्‍य अपने यहां पढ़ रहे जम्मू-कश्मीर के विद्यार्थियों का ध्‍यान रखें और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करें.

वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने बैठक में प्रस्ताव रखा की पानी के मुद्दों को कोर्ट के बाहर आपसी सहमति से सुलझाना चाहिए. साथ ही ऊर्जा के बंटवारे के मामले को भी कोर्ट से बाहर सुलझाया जाना चाहिए.

बैठक में सीएम मनोहर लाल के साथ हरियाणा के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ और राज्य मंत्री कृष्ण बेदी शामिल हुए. पंजाब के मुख्‍मंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ राज्‍य के वित्तमंत्री मनप्रीत बादल ने भी बैठक में हिस्‍सा लिया. बैठक में जम्मू कश्मीर की ओर से वहां के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह बैठक में शामिल हुए.

बैठक में हिमाचल प्रदेश की ओर से वहां के कैबिनेट मंत्री ठाकुर कौल सिंह और विद्या स्टोक्स शामिल हुए. राजस्‍थान की ओर से वहां के जल संसाधन मंत्री रामप्रताप ने बैठक में हिस्‍सा लिया. दिल्ली की ओर से कैबिनेट मंत्री इमरान हुसैन मौजूद थे.

बैठक में स्वास्थ्य, सामाजिक कल्याण और सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर केंद्र और राज्यों के बीच सहयोग पर चर्चा की गई. इस परिषद का गठन विचारों और अनुभवों के आदान-प्रदान के लिए किया गया है. बैठक में 18 मुद्दों पर चर्चा हुई. बैठक में आधारभूत संरचना, स्वास्थ्य, सुरक्षा, सामाजिक कल्याण, भाषायी अल्पसंख्यक और सीमा विवाद जैसे साझा हितों के मुद्दे उठाए गए.

Share With:
Rate This Article