सोलन में सीएम वीरभद्र सिंह ने 12.24 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का किया शुभारंभ

सोलन

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कंडाघाट उपमंडल के ममलीग में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा विधायक विधानसभा में मात्र भत्ता लेने के लिए रजिस्टर में हाजिरी भरते हैं तथा शोर-शराबा कर निकल जाते हैं.

उन्होंने कहा, भाजपा नेताओं की नसों की उन्हें बखूबी परख है तथा किसकी नसों में गर्म खून है तथा किसमें ठंडा, वह भलीभांति जानते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यर्थ में शोर-शराबा करने से प्रजातंत्र कमजोर होता है और यह बीमारी अब लोकसभा में चर्चा के दौरान भी फैल रही है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को भी अब लोकसभा में नेता शांति से नहीं सुनते. मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष कहता है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कांग्रेस सरकार अंधाधुंध शैक्षणिक संस्थान खोलकर रेवडि़यां बांट रही है, किंतु मैं रेवडि़यां नहीं अपितु शिक्षा की लौ बांटता हूं.

मुख्यमंत्री ने क्षेत्र की कई बड़ी मांगों पर शीघ्र विचार करने को कहा तथा प्राइमरी स्कूल सतड़ौल का दर्जा बढ़ाकर माध्यमिक पाठशाला करने की घोषणा की। सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री डा. कर्नल धनीराम शांडिल ने मुख्यमंत्री से सोलन में अधीक्षण अभियंता का कार्यालय तथा सायरी में पुलिस चौकी खोलने का आग्रह किया।

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सोलन दौरे के दूसरे दिन करीब 40 करोड़ रुपए से बनी योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने ममलीन क्षेत्र में करीब 12 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण किया.

उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुफ्टू के नए भवन का उद्घाटन, कुफ्टू-कांशीपट्टा-ममलीग सड़क का उद्घाटन और कुफ्टू में ही सतड़ोल-बंगयाड़ सड़क का उद्घाटन किया.

इसके बाद उनका काफिला बकेशु पहुंचा जहां पर उन्होंने करीब तीन करोड़ की लागत से बनी उठाऊ सिंचाई योजना का उद्घाटन किया. इस दौरान उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर, सिंचाई मंत्री विद्या स्टोक और समाजिक एवं अधिकारिता मंत्री कर्नल धनीराम शांडिल मौजूद रहे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment