जवानों के शवों से बर्बरता पर बोले अरुण जेटली- अपनी फौज पर भरोसा रखिए

दिल्ली

भारतीय सैनिकों के शवों से की गई बर्बरता और पाकिस्तानी सेना के इसमें शामिल होने के मुद्दे पर बोलते हुए रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने देश के लोगों से भारतीय सेना पर भरोसा रखने की बात कही है.

कैबिनेट मीटिंग के बाद बोलते हुए जेटली ने कहा, “आप अपनी फौज पर भरोसा रखिए.” जवानों के शवों के क्षत-विक्षत करने की पाक की घिनौनी हरकत पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने यह जवाब दिया.

पाकिस्तान द्वारा इस घटना में शामिल ना होने की बात को नकारते हुए जेटली ने कहा, “पाकिस्तान के इंकार में कोई विश्वसनीयता नहीं है. हालात बताते हैं कि हमारे सैनिकों को मारना और फिर शवों से बर्बरता करना पाकिस्तान सेना की शह और भागीदारी के बिना संभव नहीं था. हमला करने वालों को कवर फायरिंग दी गई. ये शामिल हुए बिना नहीं हो सकता था.”

इससे पहले, भारत ने बुधवार को ही पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया और दो भारतीय सैनिकों को मार कर उनका सर काटने की घटना में पाकिस्तानी सेना की संलिप्त्ता के बारे में ‘पर्याप्त सबूत’ दिए.

भारत ने एक मई को जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर कृष्णा घाटी सेक्टर में हुए ‘‘क्रूर कृत्य’’ को अंजाम देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने बताया कि विदेश सचिव एस जयशंकर ने पाकिस्तानी सैन्य कर्मियों द्वारा एक मई 2017 को दो भारतीयों को मारने और उनके शव क्षत-विक्षत करने पर भारत की नाराजगी जाहिर करने के लिए बासित को तलब किया. भारत ने पाकिस्तान से यह भी कहा कि सैनिकों को मारना उकसावे की कार्रवाई है और सभ्य आचरण के सभी मानदंडों के विपरीत है.

Share With:
Rate This Article