नहर में अपने 2 मासूम बच्चों को लेकर कूदी मां, लोगों ने महिला को बचाया, बच्चे लापता

सोनीपत

गढ़ी बिंधरौली गांव की एक महिला शुक्रवार सुबह घर से बच्चों को स्कूल छोड़ने के लिए निकली, लेकिन उसने गांव के पास से गुजर रही नहर में बच्चों के साथ छलांग लगा दी. महिला व उसके दो बच्चों को डूबते देखकर लोगों ने किसी तरह महिला को बचा लिया, लेकिन उसके दोनों बच्चे नहर में बह गए.

महिला के नहर में कूदने की सूचना गांव में दी गई तो वहां से काफी लोग घटनास्थल पर पहुंच गए. ग्रामीणों ने बच्चों की नहर में तलाश शुरू कर दी, लेकिन कई घंटे बीतने के बावजूद उनका कुछ पता नहीं लग सका है.

गढ़ी बिंधरौली की रहने वाली महिला मुनेश (28) शुक्रवार सुबह को अपने दो बच्चों पांच वर्षीय जतिन व तीन साल के यश को स्कूल छोड़ने के लिए घर से निकली थी. वह बच्चों को स्कूल छोड़ने की जगह गांव के पास से गुजर रही नहर पर लेकर पहुंच गई. वहां उसने दोनों बच्चों के साथ आत्महत्या करने के लिए नहर में छलांग लगा दी.

वहां आसपास खेतों में काम कर रहे लोगों ने महिला को नहर में छलांग लगाते हुए देख लिया. वह तुरंत ही वहां पहुंचे और नहर से महिला को किसी तरह बाहर निकाल लिया. लेकिन बच्चों की तलाश करने के बाद भी उनका पता नहीं लगा. इसका पता चलने पर गांव से काफी लोग नहर पर पहुंच गए और वह भी बच्चों की तलाश में जुटे हुए है.

पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी वहां पहुंच गए है तो गोताखोरों को बुलाया गया है. ग्रामीणों ने बताया कि मुनेश के पति की छोटे बच्चे के जन्म के एक सप्ताह बाद ही मौत हो गई थी, जिसके बाद परिवार की पूरी जिम्मेदारी मुनेश पर आ गई. पुलिस का कहना है कि महिला के बयान लेने के बाद ही पता लग सकेगा कि उसने ऐसा क्यों किया है.

Share With:
Rate This Article