जाट हिंसा: मृतकों के आश्रितों को मिलने लगी पक्की नौकरी, 15 दिन में मिल जाएगा रोजगार

चंडीगढ़

हरियाणा सरकार ने जाट आंदोलनकारियों के साथ हुए समझौते के अनुसार मृतकों के आश्रितों को पक्की नौकरी देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. 31 मृतकों में से 26 ने आवेदन किया था, जिनमें से एक आवेदक को मुरथल यूनिवर्सिटी में चतुर्थ श्रेणी के पद पर योग्यता अनुसार पक्की नौकरी का नियुक्ति पत्र दे दिया गया है.

अन्य आवेदकों को अगले 15 दिन के अंदर योग्यता अनुसार घर के पास नौकरी देने का लक्ष्य रखा गया है. जिन पांच आवेदकों के आवेदन पर पेच फंसा हुआ है, उसे भी जल्दी सुलझाया जाएगा.

यह जानकारी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण बेदी ने समझौते को अमलीजामा पहनाने के लिए गठित चार सदस्यीय समिति की तीसरी बैठक के बाद दी.

बेदी ने बताया कि बैठक बड़े ही सौहार्दपूर्ण माहौल में हरियाणा निवास में शाम साढ़े चार बजे शुरू हुई. इसमें आंदोलन के दौरान बीते वर्ष मारे गए आंदोलनकारियों के आश्रितों को नौकरी और घायलों को मुआवजा देने को लेकर विस्तार से चर्चा हुई.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment