EVM की वजह से MCD हारे, तो दिल्ली में आंदोलन छेड़ देंगे: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने चेतावनी दी है कि अगर एमसीडी चुनाव के नतीजे एग्जिट पोल्स के मुताबिक रहे तो वह आंदोलन छेड़ देंगे. दरअसल, अधिकतर एग्जिट पोल्स और चुनाव पूर्व कराए गए सर्वे में केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को काफी कम सीटें मिलने की बात कही गई है. इसी को लेकर केजरीवाल ने एक बार फिर अपनी हार के लिए ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी किए जाने का मामला उठाया है.

टि्वटर पर अपलोड किए गए एक विडियो में केजरीवाल अपने पार्टी के सदस्यों से कहते नजर आते हैं, ‘अब अगर हम बुधवार को हारते हैं… (एग्जिट पोल्स का जिक्र करते हुए) नतीजे वैसे ही रहते हैं जैसे कि बीती रात बताए गए हैं, तो हम ईंट से ईंट बजा देंगे.’

विडियो क्लिप में केजरीवाल यह कहते हुए भी सुनाई देते हैं कि आम आदमी पार्टी आंदोलन की उपज है, इसलिए पार्टी वापस अपनी जड़ों की ओर लौटने से हिचकिचाएगी नहीं. केजरीवाल ने कहा, ‘अगर ऐसे नतीजे आते हैं तो यह साबित हो जाएगा कि पंजाब, यूपी, पुणे, मुंबई, भिंड और धौलपुर की तरह छेड़छाड़ (ईवीएम से) हुई है. हम आंदोलन से निकले हैं. हम यहां सत्ता का आनंद उठाने नहीं आए हैं. वह आंदोलन की ओर लौटेंगे.’

केजरीवाल का कहना है कि वह जीतने या हारने के बजाए पूरे देश में ‘ईवीएम से लगातार छेड़छाड़’ और ‘धोखे’ से चिंतित हैं. उन्होंने उस मामले का जिक्र किया, जिसके मुताबिक उनकी पार्टी को पंजाब के एक गांव में कथित तौर पर सिर्फ दो वोट मिले.

दिल्ली का उदाहरण देते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘संजीव झा के विधानसभा क्षेत्र (बुराड़ी) में एक कॉलोनी है, जहां 100 प्रतिशत मतदान हुआ है. लेकिन यदि वे 50 प्रतिशत वोट बीजेपी के पक्ष में दिखाते हैं तो यह संदेह पैदा करता है.’

केजरीवाल ने अपने आवास पर आयोजित बैठक में पार्टी वर्करों को शुक्रिया भी कहा. उन्होंने आप वर्करों का उदाहरण दिया, जो उनके मुताबिक क्षेत्र में लोगों की नब्ज पहचानते हैं. एमएलए महेंद्र यादव का उदाहरण देते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘यह सुबह पांच बजे उठ जाते हैं और क्षेत्र में चले जाते हैं. इसके बाद शाम आठ बजे तक लोगों से उनकी समस्याएं जानते हैं. ये अपने क्षेत्र में मोटरसाइकल वाला एमएलए के तौर पर जाने जाते हैं. आपको ऐसा विधायक कहां मिलेगा, जो लोगों से फीडबैक लेता है और हर रोज अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों से मिलता है. इनसे बेहतर जमीनी हालत कौन जान सकता है?’ बता दें कि इस बैठक में सीनियर पार्टी नेता आशुतोष और कुमार विश्वास भी मौजूद थे.

बता दें कि राजधानी दिल्ली के तीन नगर निगमों के लिए रविवार को हुए चुनाव में 270 सीटों पर 58.58 प्रतिशत मतदान हुआ था. हालांकि, दो सीटों पर उम्मीदवारों की मौत के कारण चुनाव स्थगित हो गया. वहीं, दो सामाचार चैनलों द्वारा दिखाए गए एग्जिट पोल्स से खुश दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दक्षिण, उत्तरी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम के करीब 250 वॉर्ड में उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान लोगों का अभूतपूर्व समर्थन देखा है.

उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने जीवन में किसी पार्टी के लिए जनता का ऐसा समर्थन पहले नहीं देखा है, खास तौर पर अनियमित कॉलोनियों, झुग्गियों और शहर के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों में. हमें अभूतपूर्व जीत की आशा है.’

Share With:
Rate This Article